Monday 20th \2024f May 2024 02:31:56 PM
HomeBreaking Newsबोकारो का ईनामी नक्सली छोटू मांझी की निशानदेही पर दुमका से भारी...

बोकारो का ईनामी नक्सली छोटू मांझी की निशानदेही पर दुमका से भारी मात्रा में हथियार और गोली बरामद


गिरफ्तार नक्सली छोटू मांझी बोकारो और दुमका में 45 घटनाओं को दे चुका है अंजाम

कार्तिक कुमार, बोकारो/दुमका/ पाकुड़। मोस्ट वांटेड इनामी नक्सली छोटू मांझी उर्फ सहदेव की बोकारो में हुई गिरफ्तारी के बाद उसके निशानदेही पर बोकारो और दुमका पुलिस ने मसलिया और शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में संयुक्त छापामारी कर भारी मात्रा में हथियार, गोली व डेटोनेटर बरामद किया है। हथियार बरामदगी के बाद रविवार को बोकारो एसपी चन्दन झा और दुमका एसपी अंबर लकड़ा ने दुमका स्थित एसपी कार्यालय में संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उक्त जानकारी दी।

एसपी ने बताया कि अनेकों नक्सली घटना में संलिप्त वांछित के साथ इनामी नक्सली छोटू मांझी की गिरफ्तारी गुप्त सूचना पर 8 अगस्त को उसके गांव टूटी झरना थाना जागेश्वर बिहार बोकारो से गिरफ्तार हुई थी। पुलिस को सूचना मिली थी कि छोटू अपने गांव आया है और वहां छुपा हुआ है। इस खबर पर बोकारो एसपी ने उसकी गिरफ्तारी के लिए योजना तैयार की। इस अभियान में बोकारो पुलिस और सीआरपीएफ 26 वीं वाहिनी को शामिल कर जंगल में स्थित टूटी झरना गांव में रात को उसके भाई के घर से गिरफ्तार किया गया। 

एसपी ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद छोटू मांझी को थाना लाया गया। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह बोकारो जिला में एरिया कमांडर और सब जोनल कमांडर के तौर पर सक्रिय रहा है। घटनाओं में संतोष महतो, दुर्योधन महतो के दस्ते में रहकर घटनाओं को अंजाम देने में संलिप्त रहा है। पुलिस को उसने बताया कि संथाल परगना में वह निशिकांत के नाम से जोनल कमांडर की हैसियत से दुमका जिले मैं वह सक्रिय रहा है। उसने अपने साथियों और हथियार के बारे में भी पूछताछ में पुलिस को बताया की वह दुमका में कई जगहों पर हथियार छुपा के रखा है। वहां ले जाने पर हथियार की बरामदगी करवा सकता है। छोटू मांझी के द्वारा हथियार छुपाने के बात बताए जाने पर बोकारो पुलिस ने दुमका पुलिस से संपर्क कर इसकी जानकारी दी। 

गिरफ्तार नक्सली के साथ एसपी बोकारो ने एक टीम गठित कर दुमका भेजा। दुमका पहुंची बोकारो पुलिस और दुमका पुलिस की टीम अलग-अलग बनाकर अपर पुलिस अधीक्षक अभियान बोकारो, पुलिस निरीक्षक बोकारो, पुलिस अवर निरीक्षक, सहायक निरीक्षक और जवान को शामिल कर छोटू मांझी को लेकर मसालिया थाना क्षेत्र पहुंचे वहां दुमका पुलिस अधीक्षक ने अपर पुलिस अधीक्षक अभियान दुमका एवं स्थानीय थाना प्रभारी के सहायता से एसएसबी के बल के साथ नक्सली द्वारा बताए गए ठिकानों पर छापामारी की गई। छापेमारी के दौरान मसलिया थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाकों में और उसके बाद शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाकों में तलाशी की गई। निशानदेही पर पुलिस को भारी मात्रा में हथियार, गोला और डेटोनेटर बरामद करने में कामयाबी मिली।

कौन-कौन हथियार हुई बरामद

बोकारो और दुमका पुलिस की संयुक्त छापामारी में मसलिया थाना क्षेत्र में पुलिस रेगुलर राइफल एसएलआर 1 पीस, पुलिस रेगुलर रायफल इंसास 1 पीस, पुलिस रेगुलर राइफल 303 एक पीस,  पुलिस रेगुलर कार्बाइन एक पीस, एसएलआर राइफल मैगजीन 3 पीस, इंसास राइफल का मैगजीन 4 पीस, 303 राइफल का मैगजीन 1 पीस, कार्बाइन का मैगजीन दो पीस, एसएलआर राइफल की जिंदा गोली 144 पीस, इंसास राइफल की गोली जिंदा 66 पीस, 303 राइफल की जिंदा 100 पीस, एसएलआर राइफल का चार्जर 13 पीस, 303 राइफल का चार्जर 25 पीस बरामद हुई फिर पुनः शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र से  पुलिस रेगुलर राइफल इंसास दो पीस, इंसास राइफल का मैगजीन 4 पीस, इंसास राइफल की गोली 47 पीस, स्टील कंटेनर बड़ा एक, डेटोनेटर इलेक्ट्रिक कमर्शियल 1675 बरामद हुई।

छोटू मांझी बोकारो और दुमका में 47 घटनाओं को दे चुका है अंजाम

इनामी नक्सली छोटू मांझी उर्फ निशिकांत बोकारो और दुमका जिले में कुल 47 घटनाओं को अंजाम दे चुका है। छोटू मांझी बोकारो जिले में 37 नक्सल घटनाओं से जुड़ी के केस दर्ज है, जबकि दुमका जिले के अलग-अलग थानों में 10 नक्सली घटना को अंजाम देने के मामले दर्ज हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments