Monday 15th \2024f April 2024 02:55:25 PM
HomeBreaking Newsबोकारो स्टील की महिला अधिकारी ने झारखंड पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप में जीता...

बोकारो स्टील की महिला अधिकारी ने झारखंड पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप में जीता दो कांस्य पदक

बोकारो : बोकारो स्टील प्लांट में कार्यरत शिल्पा टोप्पो, सहायक महाप्रबंधक (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलिकॉम) ने झारखंड पावर लिफ्टिंग एसोसिएशन के तत्वाधान में हाल ही में रांची में आयोजित झारखंड पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप के 84 किलोग्राम वर्ग में बेंच प्रेस तथा पावर लिफ्टिंग में दो कांस्य पदक जीत कर न सिर्फ बोकारो स्टील प्लांट का नाम रौशन किया है, बल्कि दूसरों के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। पेशे से इंजीनियर टोप्पो का पावर लिफ्टिंग के क्षेत्र में पूर्व का कोई विशेष अनुभव नहीं रहा है, बावजूद इसके उन्होंने मात्र एक वर्ष के अल्पकाल में ही अपनी बुलंद इच्छाशक्ति के दम पर इस कड़ी स्पर्धा में कई पेशेवर खिलाड़ियों को पछाड़ते हुए इस उपलब्धि को हासिल किया है।
झारखंड पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप में दो कांस्य पदक जीतने के पीछे टोप्पो की एक प्रेरणा दायक कहानी है। प्रबंध प्रशिक्षु(तकनीकी) -2007 बैच में शिल्पा टोप्पो ने बोकारो इस्पात संयंत्र से अपने ब्यवसायिक जीवन यात्रा की शुरुआत की और जीवन में सब कुछ सामान्य तरीके से चल रहा था। वर्ष 2018 में एक सड़क दुर्घटना में इनका दाहिना पैर टूट गया। पैर की सर्जरी के बाद भी बिना किसी सहारे के चलना इनके लिए मुश्किल था और पैरों ने काम करना बंद कर दिया था। जैसा कि दुर्घटना का शिकार होने पर आमतौर पर सभी के साथ होता है, लोगों की सहानुभूति, निराशा और संघर्ष के इस समय में शिल्पा ने हताश होने के बजाए खुद को संभाला , मन को मजबूत किया और यह ठाना कि उसे अपाहिज की जिंदगी नहीं गुजारनी। इस कठिन समय में शिल्पा को अपने पति का भरपूर सहारा और प्रोत्साहन मिला तथा शिल्पा ने अपने पैर को दोबारा मजबूत करने के लिए सेक्टर -12 स्थित देबी प्रसाद चटर्जी के गुरुकुल में व्यायाम और स्क्वाट करना शुरू किया। घर, परिवार और नौकरी की जिम्मेदारियों के बीच अपनी चुनौती से उबरने के जज़्बे के साथ शिल्पा द्वारा किया गया। यह प्रयास अंतत: रंग लाया.इसी बीच शिल्पा ने पेशेवर रूप से पहली बार पावर लिफ्टिंग के क्षेत्र में 2023 कदम रखा और अगस्त 2023 में जिला स्तर प्रतियोगिता में शामिल हुई। नवंबर 2023 में शिल्पा को पूर्वी क्षेत्र चैंपियनशिप के लिए चुना गया पर चोट के कारण कोई स्थान नहीं मिल पाया। वर्ष 2024 में शिल्पा का चयन स्टेट चैंपियनशिप के लिए हुआ और उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में 84 किलोग्राम वर्ग में दो कांस्य प्राप्त किए। बीएसएल के अधिशासी निदेशक (संकार्य) बीरेन्द्र कुमार तिवारी ने शिल्पा को इस उपलब्धि पर बधाई दी है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments