2014 से जो बीजेपी के पार्टनर थे, उनपर फैसला बीजेपी को ही करना है

कुशवाहा और चिराग पासवान पर सवाल पूछने पर नीतीश ने कहा

उज्ज्वल दुनिया/पटना। विधानसभा चुनाव की घोषणा भले ही हो गई हो लेकिन एनडीए में सीट बंटवारे पर अब तक कोई बातचीत नहीं हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह साफ कर दिया है कि एनडीए में सीटों के तालमेल पर कोई बातचीत नहीं हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि यह सच्चाई है कि एनडीए में अब तक सीट बंटवारे पर कोई बातचीत नहीं हुई है । मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद उन कयासों पर विराम लग गया है, जो लगातार फार्मूले के बिनाह पर सीट बांटने का दावा कर रहे थे।

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एनडीए के सहयोगी दलों को लेकर भी साफ शब्दों में अपनी राय जाहिर की है । मुख्यमंत्री ने कहा है कि एनडीए में 2014 से जो बीजेपी के पार्टनर रहे हैं, उन पर फैसला भारतीय जनता पार्टी को करना है । नीतीश कुमार ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले जो बीजेपी का साथ छोड़ कर चले गए और जो रह गए दोनों के ऊपर बीजेपी को ही फैसला करना है।

यह पूछे जाने पर कि क्या जीतन राम मांझी की एंट्री के बाद उन्हें रामविलास पासवान की जरूरत नहीं है । नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसा नहीं है । उन्हें बीजेपी के पूर्व से सहयोगी रहे दलों के ऊपर कुछ भी नहीं कहना है । बीजेपी इस मामले को खुद से देख रही होगी और संभव है कि उनसे बातचीत भी हुई होगी।

नीतीश कुमार ने कहा है कि अगर वह सत्ता में दोबारा आएं तो एक बार फिर से बिहार के विकास को आगे बढ़ाया जायेगा । युवाओं के लिए कौशल विकास मंत्रालय की अलग से स्थापना की जाएगी । युवाओं का स्किल डेवलपमेंट किया जा सके, इसके लिए सरकार नीति बनाकर आगे बढ़ेगी और नए मंत्रालय के जरिए इस पर काम किया जायेगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार में चुनाव के लिए उनकी पार्टी जनता दल यूनाईटेड पूरी तरह से तैयार है । राज्य के विकास के लिए अब तक उनकी पार्टी और सरकार ने जो काम किया है, वह जनता के सामने हैं और आगे भी बिहार के विकास के लिए काम करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: