1932 के खतियान के आधार पर ही होगी शिक्षकों की बहाली

सिर्फ झारखंड के लोगों को ही मिलेगी शिक्षक की नौकरी
दूसरे राज्य के लोगों के लिए अब झारखंड में वैकेंसी नहीं

उज्ज्वल दुनिया/बोकारो : झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने गुरुवार को एक बार फिर बड़ा बयान दिया है । उन्होंने कहा है कि झारखंड की स्थानीय नीति का आधार 1932 का खतियान होगा ।  साथ ही शिक्षा मंत्री ने कहा कि झारखंड में इसी राज्य के लोग शिक्षक बनेंगे ।  दूसरे राज्य के लोग अब झारखंड में शिक्षक नहीं बन पायेंगे ।

रघुवर दास की 1985 वाली स्थानीय नीति कुड़े में डालने लायक

जगरनाथ महतो ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की रघुवर दास की सरकार के 1985 के स्थानीय नीति का कोई आधार नहीं है ।  उसे तो हमने कुड़े में डालने लायक समझा है ।  स्थानीय नीति का आधार 1932 का खतियान है, उसी को तय मानकर आगे के लिए स्थानीय नीति बनेगी ।  

बिहारी नहीं अब सिर्फ झारखंडी बन सकेंगे शिक्षक 

जगरनाथ महतो ने कहा है कि बिहार में बिहारी शिक्षक की तर्ज पर झारखंड में भी झारखंड के लोग ही शिक्षक बनेंगे । उन्होंने यह भी कहा कि स्थानीय नीति का आधार 1985 नहीं होगा । इसका आधार 1932 ही होगा क्योंकि झारखंड का यही आधार है । शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि एकीकृत बिहार में झारखंड की स्थानीय नीति का आधार वर्ष 1932 ही था । इसलिए झारखंड में उसे ही लागू किया जायेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: