विफल सरकार लोकतंत्र की कर रही है अवहेलना: दीपक प्रकाश

विधायक दल की बैठक में भाजपा दल के नेता को नहीं बुलाना दुर्भाग्यजनक

उज्ज्वल दुनिया /रांची ।  आगामी मानसून सत्र की दृष्टि से विधानसभा में हुए विधायक दल के नेताओं की बैठक में भाजपा को बुलावा नहीं दिए जाने पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि बैठक में भाजपा विधायक दल के नेता को बुलावा नहीं देना लोकतंत्र की हत्या है। पार्टी द्वारा वरिष्ठ नेता बाबूलाल मरांडी को विधिवत विधायक दल का नेता चुना गया है।  जिसकी सूचना विधानसभा अध्यक्ष को दे दी गयी है। सब कुछ विधानसभा अध्यक्ष के संज्ञान में है। बावजूद इसके बैठक में पार्टी के किसी  अन्य सदस्य को बुलाना सरकार की मंशा को उजागर करता है।

भाजपा विधायक दल का नेता कौन होगा इसका फैसला सरकार नहीं कर सकती 

दीपक प्रकाश ने कहा कि भाजपा विधायक दल का नेता कौन होगा यह भी अब सरकार के इशारे पर तय किया जा रहा है। जो लोकतंत्र के लिए चिंताजनक है। कहा सरकार अपने हिसाब से सदन को भी चलाना चाह रही है और विपक्ष को भी चलाना चाह रही है। 

सवालों से बचने के लिए तीन दिन का छोटा सत्र 

  वहीं तीन दिन के सदन पर सवाल उठाते हुए दीपक प्रकाश ने कहा कि सरकार जनता के सवाल से भाग रही है। सरकार अपने असफलता से भाग रही है। कोरोना काल होने के बावजूद लोकसभा और राज्यसभा सुचारू रूप से चल रही है। जनता के सवालों पर चर्चा हो रही है। किंतु झारखंड विधानसभा का सत्र सिर्फ तीन दिनों का होना सरकार की मंशा पर सवाल उठाता है। छोटा सत्र होने से आम जनता की परेशानियां सदन तक नहीं लाया जा सकेगा जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि जनता की रक्षा करने वाले जवान आज खुले आसमान के नीचे आंदोलन करने को विवश हैं और सरकार दमनकारी बनी हुई है। 

%d