Thursday, February 22, 2024
HomeBreaking Newsमोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को तहस

मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को तहस

हमने केन्द्र से झारखंड का बकाया मांगा तो वे कहते हैं कि आरबीआई से कर्ज ले लो, तबाह अर्थव्यवस्था को संभालने में लग जाएंगे 10 साल

कोरोना तो बहाना है, उससे पहले से ही जीडीपी कम हो रही थी, यूपीए ने देश का विकास दर साढ़े 8 फीसदी छोड़ा था, ये 2 फीसदी पर लेकर आ गए

कोरोना काल में तो देश की अर्थव्यवस्था-23 फीसदी तक पहुंच चुकी है 

उज्ज्वल दुनिया/रांची। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह वित्त एवं खाद्य आपूर्ति डॉ. रामेश्वर उरांव ने कहा है कि देश की आर्थिक बदहाली के लिए नोटबंदी, गलत जीएसटी और बिना सोचे समझे देशव्यापी लॉकडाउन लागू करना है। उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में गिरावट का दौर नोटबंदी से ही शुरू हो चुका था और बाद में गलत जीएसटी लागू करने से स्थिति और खराब हुई ,अब बिना सोचे-समझे लॉकडाउन लागू कर देने से अर्थव्यवस्था स्वतंत्र भारत के सबसे खराब दौर में पहुंच गया है । 

कोई भी सेक्टर बता दें जहां से अच्छी खबर हो

रामेश्वर उरावं ने कहा कि आज देश की हालात इतनी खराब हो गयी है कि जीडीपी माइनस 23.9प्रतिशत पर पहुंच गया है । वहीं कंस्ट्रक्शन सेक्टर का भी ग्रोथ -51.4प्रतिशत है, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का ग्रोथ -39.3प्रतिशत, माइंनिंग सेक्टर का ग्रोथ -41.3प्रतिशत, ट्रेड, होटल व ट्रांसपोर्ट ग्रोथ -47.4प्रतिशत है।  उन्होंने कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट हैै ।

नौकरी और रोजगार देने में विफल सरकार धर्म और राष्ट्रवाद से ध्यान हटाने की कोशिश में 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा रामेश्वर उराँव ने कहा आर्थिक मोर्चे पर बुरी तरह फेल मोदी सरकार सांप्रदायिक घृणा के सहारे ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है । नौजवान जब काम और रोटी मांगते हैं तो उन्हें राष्ट्रवादी नारे लगाने को कहा जाता है । मोदी तो विषय से भटकाने में माहिर हैं । 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments