पीटीआई

रांची । पीटीआई-भाषा के पत्रकार पीवी रामानुजम ने बुधवार की रात लालपुर थाना क्षेत्र के मोराबादी स्थित अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। पत्रकार का शव उनके आवास पर बने कार्यालय में फंदे से लटकी मिली। 

घटना की सूचना के बाद लालपुर थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की जांच पड़ताल में जुट गई। वहीं पत्रकार के सुसाइड की खबर के बाद मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर दुख जताया है।मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा कि पीवी रामानुजम का यूं चले जाना पत्रकारिता जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। उनकी पत्रकारिता से कई पत्रकारों को मार्गदर्शन एवं प्रेरणा मिली है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। मेरी संवेदना उनके परिजनों के साथ हैं। भगवान उन्हें दुःख की इस घड़ी को सहन करने की शक्ति दें।

पत्नी ने देखा तो पुलिस को दी जानकारी

समाचार एजेंसी के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम की पत्नी ने गुरुवार की सुबह शव को फंदे से लटकता देखा तो शोर मचाते हुए पड़ोसियों को घटना की जानकारी दी। इसके बाद मामले की जानकारी लालपुर पुलिस को दी गई। जिस घर में ब्यूरो चीफ ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है उसी घर में समाचार एजेंसी का दफ्तर भी है।

उधर, ब्यूरो चीफ के आत्महत्या किए जाने की सूचना के बाद लालपुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी ली। पुलिस जांच में इस बात की जानकारी मिली है कि पीवी रामानुजम पिछले कुछ दिनों से आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे। हालांकि मृतक की पत्नी ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि वे किसी बात को लेकर तनाव में थे या नहीं, इसकी जानकारी उन्होंने कभी भी मुझे नहीं होने दी।

पत्रकार की पत्नी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से उन्होंने बातचीत भी करना बंद कर दिया था। बताया जा रहा है कि पीवी रामानुज के परिवार में पत्नी के अलावा एक बेटा है जो ओडिशा में रहता है। पुलिस पूरे मामले को आर्थिक तंगी और वर्क प्रेशर से जोड़कर जांच कर रही है। अब तक आधिकारिक तौर पर किसी ने यह पुष्टि नहीं की है कि ब्यूरो चीफ के आत्महत्या की क्या वजह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: