पतरातू के 25 गांवों के विस्थापितो का अनशन खत्म

अंबा प्रसाद के नेतृत्व में विस्थापित ग्रामीणों का प्रतिनिधिमंडल हेमंत सोरेन से करेगा मुलाकात

उज्ज्वल दुनिया/रांची ।  पिछले कुछ दिनों से पीवीयूएनएल पतरातू के विरोध में बड़कागांव विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत पतरातू के 25 गांव में विस्थापित एवं प्रभावितों के द्वारा भूख हड़ताल किया जा रहा है । इसी संदर्भ में विधायक अंबा प्रसाद ने ग्रामीणों की मांगों को उचित ठहराते हुए विधानसभा में इस मामले को उठाया था और जल्द से जल्द इस मामले पर उचित न्याय एवं मुआवजा हेतु मांग उनके द्वारा की गई थी । 

विधायक ने तुड़वाया भूख हड़ताल, कहा- सभी प्रभावितों को न्याय दिलाऊंगी

विस्थापित एवं प्रभावित संघर्ष मोर्चा पतरातू के बैनर तले भूख हड़ताल कर रहे रैयतो से मिलकर विधायक अंबा प्रसाद ने कहा कि  आजसू पार्टी संघर्ष मोर्चा के नाम पर  सिर्फ  अपनी राजनीति  कर रही है उन्हें रैयतो से कोई मतलब नहीं है, अपने निजी फायदे के लिए भूख हड़ताल करवाकर लोगों को ठग रही है। विधायक अंबा प्रसाद ने भूख हड़ताल तुड़वाते हुए कहा कि रैयतो को हर हालत में न्याय दिलाऊंगी।

विस्थापितों के साथ अंबा प्रसाद मुख्यमंत्री से करेगी मुलाकात

विधायक अंबा प्रसाद ने यह भी बताया कि पीवीयूएनएल पतरातु के विस्थापितों की मांग जायज है और कल इसके लिए विस्थापित ग्रामीणों के साथ बड़कागांव विधायक अंबा प्रसाद मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगी।

राजनीतिक स्वार्थ के लिए ग्रामीणों का इस्तेमाल कर रही है आजसू- अंबा प्रसाद

विधायक अंबा प्रसाद ने इस मामले में बताया कि उनके करोना पॉजिटिव होने के तुरंत बाद अपने राजनीतिक स्वार्थ हेतु विस्थापित एवं प्रभावित संघर्ष मोर्चा का नाम देकर सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए आजसू ने विस्थापितों का इस्तेमाल किया। उन्होंने यह भी कहा कि इनको विस्थापितों से कोई लेना देना नहीं है बल्कि उन्हें सिर्फ अपनी राजनीति करनी है तथा भूख हड़ताल के नाम पर उगाही करनी है।

सरकार को बदनाम करने की साजिश कर रही है आजसू

विधायक अंबा प्रसाद ने आजसू पर निशाना साधते हुए कहा की भूख हड़ताल के नाम पर राजनीतिक स्वार्थ के लिए आजसू पार्टी काम कर रही हैं और उनका इरादा सिर्फ इतना है कि भूख हड़ताल कर रहे ग्रामीणों के साथ कुछ अनहोनी हो जाए और सारी बदनामी सरकार की हो। विस्थापितों पर किया गया लाठीचार्ज पर निशाना साधते हुए विधायक ने कहा कि यह सारा षड्यंत्र आजसू पार्टी का ही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: