Wednesday, February 28, 2024
HomeLatest Newsनिजी अस्पतालों को आपदा में अवसर की इजाजत नहीं दी जा सकती

निजी अस्पतालों को आपदा में अवसर की इजाजत नहीं दी जा सकती

उज्ज्वल दुनिया \रांची। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे और राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नक्शे कदम पर आपदा में भी बेहिसाब मुनाफा कमाने की छूट निजी अस्पतालों को नहीं दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों की मनमानी पर पूरी तरह से अंकुश लगना चाहिए । कोरोना समेत अन्य जांच के लिए शुल्क निर्धारित होनी चाहिए और इस आदेश का उल्लंघन करने वालों के सख्ती होनी चाहिए। यदि कोई निजी अस्पताल प्रबंधन यदि इन गतिविधियों में संलिप्त पाया जाता है, तो  उसका लाईसेंस रद्द किया जाना चाहिए और जरूरत पड़ने पर ऐसे लोगों को जेल के सलाखों के पीछे भेज दिया जाना चाहिए। 

प्राइवेट स्कूल और अस्पतालों के कारण हो रही सरकार की बदनामी 

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि निजी स्कूल प्रबंधन की मनमानी के कारण लोगों की सेवा में जुटे चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों की भी बदनामी हो रही है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक दूबे एवं डा राजेश गुप्ता ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में आर्थिक तंगी से भी लोग परेशान है, देशभर में बेरोजगारी के कारण लोग परेशान है, प्रतिदिन आत्महत्या की घटनाएं सामने आ रही है। केंद्र सरकार द्वारा बिना सोचे-समझे फैसला लेने से पूरी अर्थव्यवस्था चौपट हो गयी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments