दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर की गैर

उज्ज्वल दुनिया/नई दिल्ली। दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स असोसिएशन का आरोप है कि रविवार को उस वक्त पुलिस ने घर पर पहुंचकर छानबीन की, जब जेनी अपने स्कूल जाने वाली बच्ची के साथ अकेली थीं। डूटा प्रेजिडेंट राजीब रे का कहना है, यह हैरान की बात है कि हनी बाबू की गैरमौजूदगी में पुलिस ने उनके घर पर छानबीन की है। हनी बाबू और जेनी दोनों ही जाति विरोधी संघर्ष के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं।

छात्रों ने भी पुलिस की कार्रवाई को बताया प्रताड़ना

इसके अलावा, स्टूडेंट्स ने भी इस छानबीन को हैरसमेंट बताया है। एसएफआई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सुबूत की तलाश के लिए की गई यह रेड बताती है कि स्कॉलर्स और एक्टिविस्ट का हैरसमेंट जारी है। हम इस कठिन परिस्थिति में हनी बाबू और उनके परिवार के साथ हैं। हम हनी बाबू की एनआईए की ओर से की गई गिरफ्तारी का भी विरोध करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: