आजाद भारत का सबसे ऐतिहासिक क्षण होगा श्रीराम मंदिर का भूमि पूजन : कैलाश चौधरी

जयपुर (हि.स.)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने रामनगरी अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमिपूजन की खुशी में लोगों से दीपोत्सव मनाने का आह्वान किया है।

कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने आमजन से अपील की है कि जिस प्रकार श्रीराम के 14 वर्ष के वनवास काटने के बाद नगर आगमन पर प्रजा ने पूरी अयोध्या को दीपों से सजाया था, उसी प्रकार श्रीराम मंदिर के भूमिपूजन पर 5 अगस्त की शाम को अपने घर, गली एवं आसपास के स्थानों को दीपों से सजाया जाए।

केंद्रीय मंत्री चौधरी ने लोगों से 11 या 21 दीप अपने-अपने घरों के मुख्य द्वारों पर जलाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि 500 सालों के संघर्ष के बाद भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। ऐसे में इन ऐतिहासिक क्षणों का पूरा देश साक्षी बनने जा रहा है। यह हम सभी के लिए उत्सव और उल्लास का समय है। अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों श्रीराम मंदिर के भूमिपूजन का दिन आजाद भारत का सबसे ऐतिहासिक क्षण होगा। राम मंदिर के मुद्दे पर देश के संघर्ष को देखते हुए कई पीढियां गुजर चुकी है। अब जाकर वो मौका आया है जब राम मंदिर का सपना साकार होने जा रहा है।

मंदिर निर्माण की राह में कांग्रेस ने अटकाए रोड़े :


केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकारों ने हमेशा श्रीराम मंदिर निर्माण की राह में रोड़ा अटकाने का काम किया है। यहां तक कि कांग्रेस के कई नेता तो भगवान श्रीराम को काल्पनिक तक बता चुके हैं, लेकिन अब जब मोदी सरकार की प्रतिबद्धता और आमजन की भावनाओं के अनुरूप सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का मार्ग प्रशस्त हुआ है, तो कांग्रेस के नेता देश के आमजन की भावनाओं के दबाव में इसका श्रेय लेने और भाजपा पर मनगढ़ंत आरोप लगा रहे है।

%d