सहायक पुलिस कर्मियों की तीन मांगें मानने को तैयार हुई हेमंत सरकार

मंत्री मिथिलेश ठाकुर के साथ हुई सहायक पुलिसकर्मियों की वार्ता

सहायक पुलिसकर्मियों के वेतन वृद्धि, एक्सटेंशन पर सहमति, नियक्ति होने पर आरक्षण में ज्यादा पॉइंट्स देने पर भी सहमति

उज्ज्वल दुनिया/रांची । भारी बवाल और लंबे अंतराल के बाद आखिरकार सरकार के नुमाइंदे के रुप में मंत्री मिथिलेश ठाकुर सहायक पुलिस कर्मियों से मिलने मोराबादी मैदान पहुंचे । उन्होंने वहां मौजूद सहायक पुलिस कर्मियों को भरोसा दिलाया कि सरकार उनकी मांगोंपर सहानुभूति पूर्वक विचार कर रही है । नौकरी तो परमानेन्ट नहीं कर सकते लेकिन अनुबंध बढ़ाने, वेतन में बढ़ोतरी पुलिस बहाली में सहायक पुलिस कर्मियों को प्राथमिकता जैसी मांगें मान ली गई है । 

सर, हमलोग सरकार के दुश्मन नहीं,  फिर क्यों पिटवाया ?

वहां मौजूद सहायक पुलिस कर्मियों में से एक ने मंत्री मिथिलेश ठाकुर से कहा कि सर हमलोग पक्का झारखंडी हैं । हमने तो हेमंत सोरेन के बारे में कभी गलत नहीं कहा । फिर हमलोगों को काहे पिटवा दिए ? इसपर मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि जो हो गया सो हो गया । पीछे जाइएगा तो दोनों ओर से शिकवा शिकायत होगी । बैरिकेडिंग के दोनों ओर अपने ही भाई थे । उनके बारे में भी सोचिए । मूल बात ये है कि सरकार ने आपकी तीन मांगें मान ली है । अब जाइए, मिठाई खाइए । 

 भाजपा के नेता भी घायलों से मिलने पहुंचे

भवनाथपुर विधायक भानु प्रताप शाही के नेतृत्व में भाजपा विधायकों का प्रतिनिधिमंडल भी घायल सहायक पुलिस कर्मियों से मिलने पहुंचा । प्रतिनिधिमंडल में शामिल विधायकों ने कहा कि वे सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठीचार्ज के मामले को सोमवार को सदन में उठाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि जिला पुलिस बल ने महिला सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठीचार्ज किया जो निर्मम है। प्रतिनिधिमंडल में भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही, अमित मंडल, इंद्रजीत महतो और किशुन दास शामिल थे।

सरकार चाहे तो पुलिसकर्मियो की नियुक्ति नियमावली बदल सकती है 

भवनाथपुर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने कहा कि जिला पुलिस बल ने महिला सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठीचार्ज किया, महिलाओं के छोटे बच्चों को भी चोटें आईं, ये निर्मम है। उन्होंने कहा कि मैं इस मामले को सोमवार को सदन की कार्यवाही के दौरान उठाऊंगा। भानु प्रताप शाही ने कहा कि सहायक पुलिसकर्मियों की नियुक्ति की शर्तों में हर समय बदलाव की गुंजाइश है। सरकार इन बातों को छिपा रही है। हेमंत सोरेन सरकार इन्हें परमानेंट कर सकती है, लेकिन वो ऐसा कर नहीं रही है।

महिलाओं और बच्चों पर लाठी बरसाना गलत – अमित मंडल

गोड्डा विधानसभा सीट से भाजपा के विधायक अमित मंडल मो कहा कि इस मसले पर अब सदन में बात होगी। सहायक पुलिसकर्मियों में महिलाएं भी शामिल हैं जिनके साथ बच्चे-बच्चियां भी हैं। उनपर लाठीचार्ज हो रहा है जो कि गलत है। अमित मंडल ने कहा कि नियमावली में है कि समय-समय पर उनके अनुबंध को बढ़ाया जाएगा। हेमंत सोरेन और उनकी पार्टी ने चुनाव के समय कहा था कि प्रदेश में जो भी अस्थायी या संविदा पर कर्मचारी हैं, सरकार बनने के बाद उन्हें परमानेंट किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: