Sunday 26th \2024f May 2024 05:52:16 AM
HomeBreaking Newsकांग्रेस ने आदिवासियों को नौकरियों और शिक्षण संस्थाओं में आरक्षण दिलवाया

कांग्रेस ने आदिवासियों को नौकरियों और शिक्षण संस्थाओं में आरक्षण दिलवाया

उज्ज्वल दुनिया/ रांची । कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और झारखंड के वित्त मंत्री रामेश्वर उरावं ने दावा किया है कि जितना काम कांग्रेस ने आदिवासियों के लिए किया है, किसी दूसरे दल ने नहीं । उन्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी ने देश को आजादी दिलाने के बाद संविधान निर्माण के लिए समिति का गठन किया गया, इस संविधान के माध्यम से ही आदिवासियों के लिए नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण की व्यवस्था करायी गयी। जिसके बाद से आदिवासियों का सर्वांगीण विकास हो पाया। डॉ. उरांव ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकार ने आदिवासियों के कल्याण जो कार्य किये, वह किसी से छिपा नहीं है, यही नहीं पार्टी ने जल, जंगल और जमीन की सुरक्षा को लेकर भी कई कानून बना कर लोगों के अधिकार को समृद्ध और मजबूत करने का प्रयास किया। 

9 अगस्त को कांग्रेस मुख्यालय पर सरना झंडा 

डॉ उराँव ने कहा कि यूं तो 9 अगस्त को आदिवासी दिवस पूरे देश में मनाया जाता है, झारखंड में भी मनाया जाता रहा है लेकिन वर्ष 2018 में झारखंड के कांग्रेस प्रभारी आर पी एन सिंह ने विश्व आदिवासी दिवस का कार्यक्रम रांची के कांग्रेस भवन में शुरुआत की और झारखंड के सभी जिला कांग्रेस मुख्यालय व प्रखंड कांग्रेस मुख्यालयों में आयोजित होने लगा । मैं आरपीएन सिंह जी को धन्यवाद देता हूं और उसी परंपरा को निभाते हुए 9 अगस्त 2020 में भी झारखंड कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस पार्टी सामाजिक दूरी बनाते हुए मुख्य समारोह आयोजित करेगी और सरना झंडा भी लगाएगी।

पीएम मोदी का लॉकडाउन फेल

 एक प्रश्न के जवाब में डॉ. उरांव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब पहली बार देश में लॉकडाउन लागू किया गया था, उस वक्त देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या मात्र 500 थी, लेकिन आज यह बढ़कर लगभग 20 लाख के आसपास हो चुकी है, इसलिए भाजपा के नेताओं को यह प्रधानमंत्री से पूछा जाना चाहिए कि इससे निपटने के लिए प्रभावी कदम क्यों नहीं उठाये गये। उन्होंने कहा कि अहमदाबाद में  नमस्ते ट्रंप आयोजित कर गुजरात , महाराष्ट्र और फिर दिल्ली को कोरोना के मकड़जाल में धकेल दिया गया और इन तीनों राज्यों से पूरे देश में कोरोना वायरस संक्रमण का फैलाव हो गया। 

विधानसभा अध्यक्ष के फैसले का इंतजार करें बाबूलाल

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का दर्जा दिये जाने की मांग को लेकर पार्टी नेताओं के एक शिष्टमंडल द्वारा आज राज्यपाल से मिलने संबंधी सवाल पर कहा कि यह मसला विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष लंबित है, उन्हें इंतजार करना चाहिए, स्पीकर सभी कानूनी पहलुओं को ध्यान में रखकर फैसला लेंगे, इसे लेकर दबाव बनाना संसदीय परंपरा के विपरीत होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी और दीपक प्रकाश को 14 दिनों के होम क्वारंटाइन  किए जाने जाने के संबंध में पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि इस कानून को भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र की एनडीए सरकार ने ही बनाया है, कानून के तहत उन्हें होम क्वारंटाइन पर भेजा गया था।

रामेश्वर उरावं ने कहा 

जल-जंगल-जमीन की रक्षा के लिए कानून बनाया 
9 अगस्त को कांग्रेस के सभी दफ्तरोंपर लगेगा सरना झंडा 
सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता भी लगाएंगे सरना झंडा 
पीएम मोदी ने जब लॉकडाउन की घोषणा की तो देश में 500 लोग संक्रमित थे 
लॉकडाउन के तीन महीने बाद संक्रमितो की संख्या 20 लाख के करीब  
लॉकडाउन की असफलता पर पीएम मोदी से सवाल क्यों नहीं? 
बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष बनने की हड़बड़ी क्यों? 
स्पीकर के फैसले का इंतजार क्यों नहीं करना चाहते भाजपा नेता? 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments