Wednesday 29th \2024f May 2024 04:48:59 AM
HomeLatest Newsराज्यपाल ने विश्वविद्यालय के सभी रिक्त पदों को भरने का दिया आदेश

राज्यपाल ने विश्वविद्यालय के सभी रिक्त पदों को भरने का दिया आदेश

उज्ज्वल दुनिया /रांची । झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की लंबित नियुक्ति प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के निर्देश विश्वविद्यालयों और झारखंड लोक सेवा आयोग काे दिए हैं। साथ ही शिक्षकों की प्रोन्नति प्रक्रिया का शीघ्र निष्पादन करने को कहा है। उन्होंने इसके लिए  विश्विद्यालयों और झारखंड लोक सेवा आयोग को तत्परता एवं सहयोगात्मक भावना के साथ कार्य करने के निर्देश दिए हैं। राज्यपाल ने गुरुवार को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कुलपतियों के साथ समीक्षा बैठक करने के क्रम में ये निर्देश दिए।उन्होंने कोरोना की गंभीर परिस्थितियों का हवाला देते हुए कॉलेजों में कार्यरत घंटी आधारित शिक्षकों को एक निर्धारित सम्मानजनक मानदेय देने के प्रावधान करने के भी निर्देश दिए। राज्यपाल ने राज्य सरकार द्वारा संचालित तकनीकी संस्थानों के रिक्त पदों को अत्यंत गंभीरता से लेते हुए शीघ्र नियुक्ति की आवश्यकता बताई। झारखंड रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय में नियमित पदों पर शीघ्र नियुक्ति हेतु रोस्टर क्लियरेंस कर शीघ्र नियुक्ति की अधियाचना झारखंड लोक सेवा आयोग को भेजने के निर्देश दिए।

बैठक में जमशेदपुर महिला विश्वविद्यालय में कुलपति, कुलसचिव तथा अन्य पदों के सृजन की भी चर्चा की गई। राज्यपाल ने सभी विश्वविद्यालयों के शैक्षणिक कैलेंडर की समीक्षा करते हुए सभी कुलपतियों से राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में एक ही पाठयक्रम, एक समय में परीक्षा, एक समय में परीक्षा परिणाम की पद्धति लागू करने पर सुझाव प्राप्त किया। उन्होंने विभिन्न विश्वविद्यालयों के जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग द्वारा संचालित विषयों की जानकारी और शिक्षा की स्थिति के संदर्भ में भी जानकारी प्राप्त की।

उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों से इन्फारमेंशन एंड लाइब्रेरी नेटवर्क के उपयोग पर भी चर्चा की। राज्यपाल ने नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय के भवन निर्माण की धीमी गति पर नाराजगी प्रकट की। राज्यपाल  ने सेवानिवृत्त शिक्षकों/कर्मियों के सेवानिवृत्ति लाभ औऱ पेंशन की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी को ससमय सेवानिवृत्ति लाभ और पेंशन मिले, इसके लिए सभी विश्वविद्यालय तत्परता से कार्य करें। राज्यपाल ने सभी विश्वविद्यालयों को महालेखाकार कार्यालय द्वारा वित्तीय अंकेक्षण शीघ्र ही अद्यतन कराने के भी निर्देश दिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments