झारखंड की सेवानिवृत आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा को विमेंस ट्रांसफार्मिंग इंडिया अवार्ड

सेवानिवृत आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा
सेवानिवृत आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा

रांची । झारखंड की सेवानिवृत आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा को विमेंस ट्रांसफार्मिंग इंडिया अवार्ड से सम्मानित किया गया है . अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर नीति आयोग के द्वारा कला , संस्कृति और हस्तशिल्प संवर्धन के लिए ये पुरस्कार दिया जाता है .प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर 2018 में इस पुरस्कार की शुरूआत की गयी . पुरस्कार वैसी महिलाओं को दिया जाता है जिन्होने अपने प्रयासों से समाज में बदलाव लाया है . हर वर्ष देश भर की 15 महिलाओं को ये अवार्ड दिया जाता है।

सुचित्रा सिन्हा को सरायकेला के नीमडीह में पिछले ढाई दशक से सबर आदिम जनजाति के बीच काम करके उनके उत्थान के लिए अथक प्रयास के लिए चुना गया है . सुचित्रा सिन्हा ने सबर जनजाति के कारीगरों के हस्तशिल्प के हुनर को निखारने और उनके उत्पादों को बाजार देने के लिए उल्लेखनीय काम किए हैं जिनमें निफ्ट से प्रशिक्षण के अलावा राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय हस्तशिलप मेलों मंप भागीदारी भी शामिल हैं. नीमडीह के सबर आज दस हजार रूपए प्रतिमाह अर्जित कर रहे हैं साथ ही उनके उत्पाद अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे प्लेटफार्म पर भी उपलब्ध हैं.

सुचित्रा सिन्हा को ये अवार्ड बॉक्सर लोवलीना बोरगोहेन और महिला क्रिकेटर मानसी जोशी के हाथों मिला . उन्होने इस अवार्ड को सबर जनजाति के कारीगरों को समर्पित किया है उन्होने नीति आयोग के धन्यवाद देते हुए कहा है कि इस अवार्ड से उनकी जिम्मेवारी और भी बढ़ गयी जिसे वे पूरी इमानदारी से निभाएंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.