15 दिनों के अंदर राज्यपाल को अपना मंतव्य भेज सकता है केंद्रीय चुनाव आयोग

चुनाव आयोग के सामने अपना लिखित पक्ष रखेंगे हेमंत और बसंत सोरेन
चुनाव आयोग के सामने अपना लिखित पक्ष रखेंगे हेमंत और बसंत सोरेन

 

रांची।  झारखंड की सियासत अगले एक पखवाड़ तक मौसम से ज्यादा गर्म रहने वाली है । राज्यपाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से मिलकर वापस रांची लौट आए हैं। लेकिन झारखंड में सियासी चर्चा थमने का नाम नही ले रही । हेमंत सोरेन सरकार के समर्थकों का कहना है कि भाजपा के आरोपो में दम नही है । हेमंत सोरेन की सरकार अभी लंबी पारी खेलेगी । सरकार को जनता ने जितना प्रचंड बहुमत दिया है, उससे सरकार गिरने की सारी संभावनाएं खत्म हो जाती हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकाला

भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों का दावा है कि राज्यपाल का गृहमंत्री अमित शाह से मिलना पहले से तय था, लेकिन जिस तरह प्रधानमंत्री मोदी अचानक झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस से मिले और फिर उन्होने अपने व्यस्त कार्यक्रम से आधे घंटे का समय निकाला, इसके बाद सचमुच मामला गंभीर लगता है । झारखंड भाजपा के एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अगर खनन मुद्दे में दम नही होता, तो फिर अमित शाह और मोदी इतना समय ही नही देते ।

15 दिनों के अंदर रिपोर्ट राज्यपाल को भेज सकता है चुनाव आयोग

इस तरह की चर्चा है कि केंद्रीय चुनाव आयोग अगले 15 दिनों के अंदर इस मामले में अपनी रिपोर्ट राज्यपाल को भेज सकता है । फैसला चुनाव आयोग का होगा लेकिन संवैधानिक प्रमुख होने के नाते उसे लागू राज्यपाल को करना है । इन 15 दिनों में हेमंत सोरेन और बसंत सोरेन अपना पक्ष केंद्रीय चुनाव आयोग के सामने रखेंगे, फिर दोनों पक्षो को सुनने के बाद चुनाव आयोग विधि विशेषज्ञो की राय लेगा । हर तरह की संवैधानिक पहलुओ को समझने के बाद ही चुनाव आयोग कोई फैसला लेगा ।

दिल्ली दौरे पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर 

झारखंड के तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर अचानक दिल्ली पहुंचे । कांग्रेस मुख्यालय में उन्होने शीर्ष नेताओ से विचार-विमर्श किया । बाहर आने पर जब पत्रकारों ने उनसे दिल्ली दौरे का कारण पूछा तो राजेश ठाकुर का कहना था कि वे संगठन के काम से दिल्ली आए हैं। हेमंत सरकार के स्थायित्व को लेकर कांग्रेस पूरी तरह आश्वस्त है । कांग्रेस का कहना है कि भाजपा कितनी भी साजिश कर ले, महागठबंधन की सरकार पूरी तरह स्थिर है और अपना कार्यकाल पूरा करेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.