पूजा सिंघल पर छापा पड़ते ही दोबारा नौकरी में क्यों आना चाहते हैं डीएमओ सत्यजीत?

पूजा सिंघल मामले में ईडी ने सत्यजीत को भी भेजा है समन
पूजा सिंघल मामले में ईडी ने सत्यजीत को भी भेजा है समन

रांची।  झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन को खदान देनेवाला रांची के पूर्व डीएमओ सत्यजीत संदेह के घेरे में घिरते दिख रहे है। क्योंकि इनके इस्तीफा वापस लेने वाली चिट्ठी सामाने आई है। यह चिट्ठी ठीक उस दिन लिखी गई, जिस दिन आइएएस पूजा सिंघल के देशभर के पांच राज्‍यों के 25 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय, ईडी की छापेमारी हुई थी। ऐसे में सीएम हेमंत सोरेन के नाम अनगड़ा रांची में खनन पट्टा लीज आवंटित करने वाले पूर्व जिला खनन पदाधिकारी सत्यजीत का इस्तीफा संदेह के घेरे में आ गया है।

जानकारी रहे कि डीएमओ सत्‍यजीत ने 30 अप्रैल 2021 को खान एवं भूतत्व विभाग के सचिव के नाम से इस्तीफा दिया था। और छह मई को निलंबित आइएएस पूजा सिंघल व उनके सहयोगियों के 20 से अधिक ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी चल रही थी, उसी दिन डीएमओ सत्यजीत ने पुनः खान एवं भूतत्व विभाग के सचिव को पत्र लिख खनन पदाधिकारी के रूप में कार्य करने की पेशकश की है।

सूत्रों के तहत सत्यजीत ने 30 अप्रैल 2021 को निजी कारणों का हवाला देते हुए नौकरी से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद उन्होंने पुनः 10 अगस्त को इस्तीफा स्वीकार करने के लिए रिमाइंडर भी भेज कार्यालय से नाता तोड़ दिया था। इस्तीफे के पीछे की ठोस वजह अज्ञात है। पर चर्चा है कि सत्यजीत असहज महसूस कर रहे थे। वहीं अन्य सूत्रों की माने तो सत्यजीत अमेरिका में उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाह रहे थे और वैश्विक महामारी के कारण यात्रा स्थगित करनी पड़ी थी।

इसी बीच पूजा सिंघल के यहां छापेमारी हुई और परिवार वालों ने उन्हें फिर से काम पर आने के लिए मना लिया है। बताया जा रहा है कि एक साल के बाद भी सत्यजीत का इस्तीफा अब तक स्वीकार नहीं हुआ है। इसे महज एक संयोग ही बताया जा सकता है, क्योंकि इतने समय तक सरकारी सेवा में इस्तीफा पड़ा रहना, इस्तीफा देने वाले का कार्यालय नहीं आना ही अपने आप मे प्रश्नचिन्ह लगा रहा है।

सूचना है कि सत्यजीत अब पुनः डीएमओ पद के लिए खान विभाग कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं। जबकि गोड्डा सांसद डाँ. निशीकांत दुबे ने चार दिन पूर्व ट्वीट किया था कि सीएम हेमंत सोरेन को खनन लीज आवंटित करने वाले डीएमओ सत्यजीत ने इस्तीफा दे दिया था और फिलहाल लापता है। सत्यजीत के लापता होने संबंधित डा.निशिकांत दूबे के ट्वीट के बाद यह सूचना चर्चा का विषय बन गई थी। इसी बीच यह दूसरी खबर सामने आई है कि सत्यजीत ने इस्तीफा दिया था जरूर, लेकिन वह अपना इस्तीफा वापस लेना चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.