झारखंड में जबरदस्ती रैयतों से जमीन लिखवाया जा रहा है, नहीं लिखने पर रैयतों की हत्या की जा रही : भाजपा

सत्ताधारी दलों के नेता- कार्यकर्ता जबरन रैयतों से बिकवा रहे जमीन
सत्ताधारी दलों के नेता- कार्यकर्ता जबरन रैयतों से बिकवा रहे जमीन

झारखंड में जबरदस्ती रैयतों से जमीन लिखवाया जा रहा है, नहीं लिखने पर रैयतों की हत्या की जा रही : भाजपा

रांची।  प्रदेश में जबरदस्ती जमीन रैयतों से लिखवाया जा रहा है । जमीन नहीं देने पर रैयतों की हत्या की जा रही है । पुलिस से जबरन जमीन खरीदने का आरोप लगाने पर कार्रवाई भी वह नहीं करती है । ये सनसनीखेज आरोप भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू ने लगाया है ।

जमीन माफियाओं को सत्ता का संरक्षण: भाजपा

रांची के बीजेपी मुख्यालय में  संवाददाता सम्मेलन में आदित्य साहू ने आरोप लगाया कि सत्ताधारी दलों से जुड़े लोग खुद जमीन की दलाली में शामिल हैं। उन्होने कहा कि थानों को जमीन दलालों ने मैनेज कर रखा है । रैयतों की शिकायत थाने में नहीं ली जा रही है । जमीन दलाल थानों को हर माह बंधी-बंधाई रकम पहुंचाते हैं। ये पैसा उपर तक जाता है ।

चिरौंदी में हुई गोलीबारी में महिला की हत्या पर आदित्य साहू ने कहा कि हेमंत सरकार में अपराधियों का मनोबल बढ़ गया है । अपराधी बेलगाम हो गये हैं । कानून व्यवस्था ध्वस्त है । अपराधियों का मनोबल इस प्रकार बढ़ गया है कि वे खुलेआम किसी भी घटना को अंजाम देकर निकल जाते हैं ।

उन्होंने कहा कि कहीं न कहीं अपराधियों को इस सरकार का संरक्षण प्राप्त है, तभी वे सरेआम हत्या जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं ।

एक-एक जमीन पर 20-20 दलाल, सभी आपराधिक प्रवृति के

राजधानी रांची में एक-एक जमीन पर दस से बीस जमीन दलाल लगे हुए हैं। इनमें अधिकांश दलाल छोटे-मोटे अपराधी हैं, जिनके आका राजनीतिक पहुंच वाले होते हैं। ये दलाल कई बार जबरन रैयतों को जमीन बेचने के लिए धमकाते हैं। अपनी जमीन नहीं बेचने पर रैयतों की हत्या तक कर दी जा रही है । ओरमांझी, नामकुम, रातू, नगडी और कांके में सबसे ज्यादा जमीन दलाल सक्रिय हैं। इनमें से अधिकतर का थानेदार के साथ उठना-बैठना है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.