छेड़खानी के मामले में घंटों एएसआई को ग्रामीणों ने बनाया बंधक, जुर्माना लेकर छोड़ा

थाना प्रभारी दल-बल के साथ घटनास्थल पहुंचकर बंधक बने तत्कालीन एएसआइ(लिंयागी) को कराया मुक्त
गिरिडीह
बेंगाबाद थाना क्षेत्र में अपराधिक घटनाओं रुकने का नाम नहीं ले रही है आए दिन चोरी छिनतैय, बलात्कार छेड़खानी, हत्या बढ़ती जा रही है। रक्षक ही भक्षक बन रहा है ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आई है।
बेंगाबाद थाना में पूर्व पदस्थापित तत्कालीन एक एएसआई को ताराजोरी गांव के जनजातियों ने छेड़खानी के मामले में घंटों बंधक बनाए रखा। हालांकि उसने अपनी जुर्म में गलती को स्वीकार करते हुए ₹20000 जुर्माना देने की बात को भी स्वीकार किया है। इसी दरमियान बेंगाबाद पुलिस को किसी ने गुप्त सूचना दिया।
सूचना मिलते ही थाना प्रभारी कमलेश पासवान
दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर बंधक बने तत्कालीन एएसआइ(लिंयागी) को मुक्त कराया। बताया जाता है कि बीते दो-तीन दिनों से ताराजोऱी गांव में तत्कालीन एएसआई चक्कर काट रहा था। पूछे जाने पर लोगों को बताया जा रहा था कि किसी केस के मामले के अनुसंधान में जुटे है लेकिन एएसआई बुधवार रात को एक विधवा महिला के घर में देखा गया।
लोगों को आशंका हुई और जनजातियों ने उसे बंधक बना लिया और बेंगाबाद पुलिस को सूचना दी। हालांकि सूचना पाते ही बेंगाबाद पुलिस पहुंचकर तत्कालीन एएसआई को जनजातियों से मुक्त कराया। हालांकि इस मामले में बेंगाबाद पुलिस कुछ भी कहने से साफ इंकार कर रही है।
मामला जो भी हो लेकिन अब पुलिस से भी लोगों को डर लगने लगा है जब रक्षक ही भक्षक बन जाए। ऐसे में लोगो की सुरक्षा किनके हाथ में होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *