महिला पर चरित्रहीन का आरोप लगा गाँव वालों ने किया परिवार का बहिष्कार

धनबाद में पुलिस की हस्तक्षेप से सामाजिक बहिष्कार का फैसला वापस( प्रतिकात्मक तस्वीर)
पुलिस की हस्तक्षेप से सामाजिक बहिष्कार का फैसला वापस (प्रतिकात्मक तस्वीर)

निरसा के केलीयासोल प्रखंड अंतर्गत बांद्राबाद ग्राम में पंचों द्वारा तुगलकी फरमान जारी कर एक कुंभकार परिवार की महिला पर चरित्रहीन का आरोप लगाते हुए सामाजिक बहिष्कार कर हुक्का पानी बन्द कर दिया गया था, पीड़ित महिला इसको लेकर थाना पहुँची और लिखित शिकायत दी. जिसके बाद जनप्रतिनिधि सहित पुलिस प्रशासन हरकत में आये और पंचों सहित पीड़ित परिवार को थाने में बुलाया गया।

दरअसल पिछले दिनों इस गाँव के पंचो ने फरमान जारि कर दी थी कि कुम्भकार परिवार से कोई भी संबंध ना रखे यहां तक कि दुकानदारों को भी निर्देश दिया गया था कि पीड़ित परिवार को राशन पानी भी कोई ना दे, इस खबर ने जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधियों के होश उड़ गए थे । तुरंत निरसा पुलिस हरकत में आई और पंचो सहित पूरे ग्रामीण को थाने में बुला कर सुलाह कराया गया ।

कालू बथान ओपी परिसर में सभी पक्षों को लेकर आपसी बैठक हुई । इसमें निरसा भाजपा विधायक अपर्णा सेनगुप्ता सहित एसडीपीओ पितांबर खेरवार कालूबथान थाना प्रभारी प्रदीप राणा सहित दोनों पक्षों के लोग सहित क्षेत्र के तमाम मुखिया जनप्रतिनिधि गण उपस्थित हुए और सभी की।  आपसी सहमति से मामले को सुलझाने का प्रयास किया गया और भविष्य में गांव में किसी पक्ष द्वारा ऐसी कोई बात नहीं हो इसको लेकर सुनिश्चित किया गया ।

दोनों पक्षों द्वारा एक लिखित बांड थाना परिसर में भरा गया कि भविष्य में किसी पक्ष द्वारा भी अगर कोई भी कार्रवाई की जाती है तो पुलिस उसमें हस्तक्षेप कर उस पर कानूनी कार्रवाई करेगा तथा साथ ही पीड़ितों से पंचों द्वारा वसूला गया 19500 की रकम में से ग्यारह हजार की रकम पीड़ित को वापस लौटाया गया और मामले को रफा-दफा कर सभी ने आपसी सहमति बनाई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.