विधायक मनीष जायसवाल के नेतृ्व में सैंकड़ो लोगों ने रूपेश पांडे को इंसाफ दिलाने की शपथ ली

रूपेश पांडे को इंसाफ दिलाने के लिए विधायक मनीष जायसवाल आगे आए
रूपेश पांडे को इंसाफ दिलाने के लिए विधायक मनीष जायसवाल आगे आए

हजारीबाग जिले के बरही अनुमंडल धनबाद रोड स्थित दुलमुहा गांव में आपसी झगड़े में नयीटांड़ निवासी सतेंद्र पांडेय के पुत्र रूपेश कुमार पांडेय (18 वर्ष) गंभीर रूप से घायल हो गया उसे इलाज के लिए बरही अनुमंडलीय अस्पताल लाया गया तो यहां इलाज के दौरान चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना रविवार शाम लगभग चार बजे की है, प्रत्यक्षदर्शी एक युवा ने बताया कि रूपेश पांडेय बेहोश की हालत में पड़ा हुआ था। मोटरसाइकिल से उसे अनुमंडल अस्पताल पहुंचाया गया।

रुपेश अपने घर का इकलौता चिराग था जिसे अपराधियों ने बुझा दिया। रुपेश की मौत के बाद रुपेश के चाचा के द्वारा 27 नामजद लोगों पर मॉब लिंचिंग के तहत स्थानीय थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई। परिवार जनों व ग्रामीणों की मांग है कि घटना में शामिल लोगों की तत्काल गिरफ्तारी हो तथा मृतक के परिवार को ₹50 लाख मुआवजा दी जाए ।

रविवार को मॉब लिंचिंग में कर दी गई थी रुपेश की हत्या
रविवार को मॉब लिंचिंग में कर दी गई थी रुपेश की हत्या

घटना की जानकारी पाते ही हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल सोमवार को मृतक युवक के दाह-संस्कार कार्यक्रम में शामिल होने बरही स्थित नईटांड पंहुचे और यहां उपस्थित होकर मृतक रूपेश कुमार पांडेय को श्रद्धांजलि दी तथा पीड़ित परिजनों से मुलाकात की ढांढस बंधाया। विधायक मनीष जायसवाल ने इस घटना को समाज के लिए बेहद दुखद व शर्मनाक कृत्य बताया और
झारखंड सरकार द्वारा लाए जा रहे मॉब लिंचिंग के नए कानून के पहाचत यह पहली मॉब लिंचिंग की घटना पर मांग किया कि झारखंड सरकार फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से स्पीडी ट्रायल द्वारा दोषी लोगों को जल्द से जल्द सजा दिलाए और पीड़ित परिवार को उचित न्याय मिले।

रुपेश को इंसाफ दिलाने के लिए लड़ी जाएगी कानूनी लड़ाई, अलग कोष का गठन
रुपेश को इंसाफ दिलाने के लिए लड़ी जाएगी कानूनी लड़ाई, अलग कोष का गठन

विधायक मनीष जायसवाल ने यहां स्थानीय लोगों के साथ बैठक कर रूपेश को न्याय दिलाने के लिए एक कोष का गठन कराया तथा यह यहां सामूहिक रूप से भी निर्णय लिया गया कि गरीबी के कारण अगर यह परिवार न्याय की लड़ाई में असमर्थ हो जाता है तो उसको न्याय दिलाने के लिए हिन्दू समाज द्वारा इस कोष के माध्यम से रूपेश की लड़ाई लड़ी जाएगी। विधायक मनीष जायसवाल ने खुद इस कोष में 51 हजार रुपए देने की घोषणा की है साथ ही वहां उपस्थित कई लोगों ने भी तत्काल इस कोष में राशि दान की। जिससे रुपेश अथवा इस प्रकार के किसी अन्य पीड़ित को न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ी जा सके एवं साथ ही परिजनों को भी मदद की जा सके। यहां से बरही पहुंचकर सदर विधायक मनीष जायसवाल ने बरही के पूर्व विधायक मनोज यादव से मुलाकात कर घटना की पूरी जानकारी प्राप्त की और मॉब लिंचिंग के दायरे के तहत इस केस में तत्काल सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयासरत रहने और पीड़ित परिवार को हरसंभव सहयोग करने की विशेष रणनीति भी बनाई ।

मौके पर स्थानीय लोगों को विधायक मनीष जायसवाल ने इस मामले को विधानसभा पटल पर भी पूरी मुखरता से पूरे झारखंड के समक्ष भी पुरजोर तरीके से उठाने और पीड़ित परिवार को हरसंभव सहयोग प्रदान करने का वादा भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.