हेमंत सरकार के दो साल, भाजपा का बुरा हाल, जनता खुशहाल: झामुमो

रांची: राज्य के हेमंत सरकार के दो वर्ष पूरे होने पर भाजपा के आरोप पत्र, हल्ला बोल एवं महाधरना पर झामुमो ने पलटवार किया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता सुप्रीयो भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा का हल्ला बोल कार्यक्रम का पूरी तरह डब्बा गोल गया है. उन्होंने भाजपा के आरोप पत्र का जवाब देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण, लॉकडाउन के बावजूद राज्य के हेमंत सरकार का दो वर्ष का कार्यकाल महाउपलब्धि के तौर पर है. दरअसल भाजपा के लोगों का ठेका-पट्टा, धंधा-पानी पूरी तरह से बंद हो गया. इससे भाजपा बौखला गयी है.

दो साल में 30 हजार करोड़ रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण 

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य की हेमंत सरकार ने दो वर्ष में 30 हजार करोड़ की परिसंपत्ति का वितरण किया. 30 ऐसी योजनाओं को लांच किया जो गांव के अंतिम व्यक्ति के मुलभूत सुविधाओं से जुड़ी है. जिसका सीधा लाभ जनता को मिल रहा है. भाजपा के लोग जो अपने राज्य में मरने वालों को कफन तक नहीं दिया. उसे कोरोना संक्रमण काल के बारे में बोलने का नैतिक हक नहीं है. हेमंत सरकार के कार्यो को पूरे देश में सराहा गया. एक आईकोन बनकर उभरे. सांच को आंच क्या.

झारखंड और झारखंडियों को नयी आवाज और पहचान दिया

भाजपा के कुशासन के दौरान झारखंड और झारखंडियत खतरे में पड़  गया. हमारी सरकार ने झारखंड और झारखंडियों को नयी पहचान देने का काम किया. जो सवाल और समस्या भाजपा छोड़ गयी थी, उसे  करने का काम हमारी सरकार ने किया. आज कोई भी सच्चा झारखंडी अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रहा है. कम से कम झारखंडियों को अपना जल, जंगल और जमीन का भय समाप्त हो चुका है.

हेमंत सरकार की उपलब्धियां

– दो साल में 30 हजार करोड़ की परिसपंत्ति का वितरण किया
– कोरोना काल में हेमंत सोरेन आईकन बनकर उभरे
– दीदी बाड़ी योजना, सोना-सोबरन योजना, धोती-साड़ी योजना, हर वर्ग को पेंशन योजना, सरकार आपके द्वार कार्यक्रम ये ऐसे कार्य रहें जिसकी तारीफ भाजपा वाले लोग भी दबी जुबान से कर रहे हैं. दीदी बाड़ी योजना की खुद केंद्र ने तारीफ करते हुए इसे दूसरे राज्य में लागू करने की बात कर रहे हैं.
– 30  ऐसी योजनाएं शुरू की जो मूल रूप से मुलभूत सुविधाओं से जुड़ी हैं
– नियुक्ति नियमावली का सुधार किया जा रहा है ताकि आदिवासी-मूलवासियों की नियुक्ति हो सके
– जेपीएससी 70 प्रतिशत से अधिक केवल आदिवासी-मूलवासियों की नियुक्ति हुई
– सरकार ओबीसी आरक्षण को लेकर गंभीर है, काम जारी है
– सरकार जल्द ही नियुक्तियों की घोषणा करेगी
– उद्योग और रोजगार के नए द्वार खोले जा रहे हैं
– सरना धर्म कोड के विधानसभा से  पारित किया
– कोरोना काल में मनरेगा में कार्यदिवस को बढ़ाया
– कोरोना काल में झारखंड के बाहर फंसे मजदूरों का वापस लाया
– कोरोना काल में लॉकडाउन में एक भी व्यक्ति भूख से नहीं मरे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *