दो गांवों ने सामूहिक रूप से पूजा के हत्यारों का सामाजिक बहिष्कार करने का लिया निर्णय

बैठक करते समाज के लोग

सिमरिया/गीतांजलि :- अब समाज मे नारी की अहमियत लोग समझने लगे हैं। यही वजह है कि शनिवार को बरसोतिया गांव में चतरा जिले के पथलगड्डा प्रखंड के अधीन आने वाले दुंबी तथा बरवाडीह गांव के सभी समुदाय के प्रबुद्ध लोगों ने बैठक कर पूजा देवी के हत्यारों का सामाजिक बहिष्कार करने का फैसला ले लिया। बैठक में प्रजापति समाज द्वारा लिए गए निर्णय की समीक्षा की गई।

नारी उत्पीड़न अथवा भ्रूण हत्या नहीं करेंगे बर्दाश्त-प्रजापति समाज

दरअसल कुम्हार समाज ने दुंबी गांव के पूजा देवी के हत्यारों का सामाजिक बहिष्कार करने का निर्णय लिया था। शनिवार को केदार प्रजापति के अध्यक्षता और राजू रंजन तिवारी के संचालन में दुम्बी, बरवाडीह गांव की सामूहिक बैठक में उक्त निर्णय का स्वागत करते हुए सामाजिक बहिष्कार को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा की गई। इस मौके पर उपस्थित वक्ताओं ने कहा कि समाज में हत्या का कोई स्थान नहीं है। नारी उत्पीड़न और लिंग पहचान कर भ्रूण हत्या समाज कतई स्वीकार नहीं करेगा। समाज के लोग कानून और न्यायालय का सम्मान करते हैं। पर जब तक पूजा के हत्यारे दोषमुक्त नहीं होते हैं, तब तक उनका सामाजिक बहिष्कार जारी रहेगा।

पूजा देवी के ससुर सुखन प्रजापति और उनके परिवार के अन्य सदस्य के साथ कोई रिश्ता रखने अथवा उनके घर आने जाने पर दंड का प्रावधान भी रखा गया है। इस मौके पर काफी संख्या में लोग उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.