देवेन्द्र फडनवीस के आरोपों पर बोले नवाब मलिक, ‘कल फोड़ूगा हाइड्रोजन बम’

कल देवेन्द्र फडनवीस का काला चिट्टा खोलूंगा- नवाब मलिक
कल देवेन्द्र फडनवीस का काला चिट्टा खोलूंगा- नवाब मलिक

महाराष्ट्र की राजनीति में बयानों के बम फूट रहे हैं। दिवाली की आतिशबाज़ी के बाद बयानबाज़ी के पटाखे फूट रहे हैं। देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को मीडिया के सामने नवाब मलिक के अंडरवर्ल्ड से संबंधों को लेकर कई डाक्यूमेंट्स रखे थे । इस पर नवाब मलिक ने फडणवीस को जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने जिस बम को फोड़ने की बात कही थी, वह फूटा नहीं बल्कि फुस्स हो गया है । नवाब मलिक ने कहा कि बुधवार की सुबह 10 बजे मैं देवेंद्र फडणवीस और उनके अंडरवर्ल्ड के कनेक्शन का हाइड्रोजन बम जरूर फोडूंगा ।

देवेन्द्र फडनवीस को नोटिस भेजेगी मेरी बेटी

नवाब मलिक ने देवेंद्र फडणवीस पर हमला करते हुए कहा कि आपने प्रेसवार्ता में यह बात कही थी कि मेरे दामाद के घर से ड्रग्स बरामद हुआ था । बयान देने के बाद आप माफी नहीं मांगते हैं । उम्मीद है कि मेरी बेटी कल आपको नोटिस भेजेगी । इसके बाद माफी न मानते हुए आप इस लड़ाई को जारी रखेंगे ।

मैंने मार्केट रेट के हिसाब से खरीदी जमीन 

मलिक ने देवेंद्र फडणवीस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनका अंडरवर्ल्ड के किसी व्यक्ति से कोई कनेक्शन नहीं है । मुझ पर आजतक कोई भी इस तरह का आरोप नहीं लगा सका है । उन्होंने आगे कहा कि लगता है फडणवीस के मुखबिर कच्चे खिलाड़ी हैं । अगर फडणवीस कहते तो मैं उन्हें खुद सारे दस्तावेज दे देता । पहली बार में जब भाजपा-शिवसेना की सरकार के दौरान विधानसभा का उपचुनाव जीता था तब उसी गोवावाला कंपाउंड में मेरा कार्यालय था और वहीं पर जश्न सेलिब्रेट किया गया था ।

जमीन की खरीद में पूरी प्रक्रिया का पालन किया गया 

मलिक ने कहा कि फडणवीस अपने मुखबिरों की गलत सूचनाओं के आधार पर मेरे ऊपर बेबुनियाद इल्जाम लगा रहे हैं । इसी तरह से गोपीनाथ मुंडे भी लोगों को अंडरवर्ल्ड और दाऊद इब्राहिम के साथ जोड़ते थे । किसी ने भी मेरे 26 वर्षीय राजनीतिक जीवन में अभी तक इस तरह के आरोप नहीं लगाए हैं । मैंने इस जमीन को उस समय जो भी रेट चल रहा था उसके हिसाब से खरीदा था ।

उन्होंने आगे कहा कि हम बतौर किराएदार गोवा वाला कंपाउंड में रहते थे । वहां की जो मालकिन थी उन्होंने हमें यह जमीन खरीदने का आफर दिया था । तब उस जगह का पावर ऑफ अटॉर्नी सलीम पटेल के पास था और उस जगह पर सरदार खान चौकीदारी करते थे । वहां की कुछ जमीन पर उन्होंने अपना नाम चढ़ावा लिया था ।हमने इन दोनों चीजों को क्लियर करने के बाद और उन्हें पैसे चुकाने के साथ पूरी कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए इस जमीन को खरीदा था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com