20 साल में पता नहीं क्या-क्या किया कि हम कुपोषण से जूझ रहे हैं : हेमंत सोरेन

अपने दादा की शहादत दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए सीएम
अपने दादा की शहादत दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए सीएम

– सांसद शिबू सोरेन, सीएम हेमंत सोरेन ने दी श्रद्धांजलि

मनोज मिश्र

नेमरा। विगत 20 साल में पता नहीं क्या-क्या किया गया कि आज हम कुपोषण के शिकार हो रहे हैं। उक्त बातें झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शनिवार को कही। वे अपने पैतृक गांव रामगढ़ जिला के गोला प्रखंड अंतर्गत नेमरा के समीप लुकुइयाटांड में आयोजित स्वर्गीय सोबरन मांझी के शहादत दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बोल रहे थे।

हेेमंत सोरेन ने कहा कि हम कुपोषण से लड़ने के लिए बच्चों को प्रतिदिन अंडा खिलाएंगे। इसके लिए बेरोजगार युवा, महिला सामने आकर मुर्गी पालन में रोजगार ढूंढे। उनके अंडा काे हम खरीदेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सोबरन मांझी की याद में हम सब लोग उनके विचारों उनके बलिदान को अपने आदरणीय गुरु जी के पास साफ देख पाते हैं। हमें ऐसा लगता है ऐसे ही सपूतों की वजह से हमें राज्य मिला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की भौगोलिक क्षेत्र काफी कठिन भरा है, कई जगहों में सरकार की योजना और आवाज नहीं पहुंच पा रही है। सरकार की योजना और आवाज जन जन तक पहुंचे, इस वजह से सरकार आपके द्वार कार्यक्रम चला रही है। सभी वर्ग के लोग इसका लाभ अवश्य ले। जब आप योजना के लाभ देने के लिए बनी कार्यक्रम में नहीं जाएंगे तो, सरकार का यह उद्देश्य ढाक के तीन पात साबित होगा।

सोबरन सोरेन को दी श्रद्धांजलि

लुकुइयाटांड़ स्थित शहीद स्थल में राज्यसभा के सांसद शिबू सोरेन ने जहां अपने पिता को और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने दादा शहीद सोबरन सोरेन को उनके 64वें शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि दी।

सीएम ने बांटी राशि :

स्वर्गीय सोबरन सोरेन के 64 वां शहादत दिवस समारोह में शामिल होने पहुंचे सीएम हेमंत सोरेन ने विभिन्न योजनाओं से संबंधित परिसंपत्तियों का वितरण किया। समारोह का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर किया गया। रामगढ़ डीसी माधवी मिश्रा ने सीएम हेमंत सोरेन को पौधे का गमला देकर स्वागत किया। पश्चात सीएम ने सोना सोबरन साड़ी धोती योजना के तहत लोगों को साड़ी धोती, प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण के तहत लाभुकों को चाबी प्रदान किया, पशुधन योजना के तहत बकरी पालन, गाय पालन, महिला समूह को 5 करोड़ राशि का वितरण, सुकन्या योजना अंतर्गत छात्राओं के बीच राशि वितरण, फूलों झानों योजना महिलाओं को प्रोत्साहन के लिए राशि वितरण, भू-बंदोबस्त के तहत पट्टा वितरण, मछली पालन के लिए मोटर बोट का वितरण, मच्छरदानी वितरण सहित कई परिसंपत्तियों का मुख्यमंत्री ने वितरण किया।

विधायक ममता की नाराजगी 

शहीद सोबरन मांझी के शहादत दिवस कार्यक्रम पर आयोजित समारोह में नाराजगी, विरोध साफ दिखाई दी। मंच पर बैठने के लिए सोफे सजे थे। परंतु सोफे खाली खाली दिखाई दिए। मंच पर सीएम हेमंत सोरेन के अलावा, उनके मीडिया सलाहकार अभिषेक, जेएमएम के विनोद किस्कु, फागु बेसरा, संजीव बेदिया, डीसी, एसपी के अलावा झारखंड मुक्ति मोर्चा एवं कांग्रेस के विधायक नहीं दिखाई दिए। जब की शहादत दिवस के विगत वर्षों के कार्यक्रमों में झारखंड मुक्ति मोर्चा के कई विधायक, मंत्री मौजूद रहते थे। भले ही यह कोरोना काल के दौरान प्रोटोकॉल का पालन हो, लेकिन आम जनता इसे नहीं जानती। देर से पहुंची कांग्रेस के विधायक ममता देवी ने जिला प्रशासन पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कार्यक्रम में परिसंपत्तियों के वितरण कि हमें जानकारी नहीं दी गई। मैं तो शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि देने आई हूं।

इनकी रही उपस्थिति

शहादत दिवस समारोह कार्यक्रम में रामगढ़ की उपायुक्त माधवी मिश्रा, पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार, झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष विनोद किस्कु, फागु बेसरा, संजीव वेदिया, छेदी महतो, चित्रगुप्त महतो, जीतलाल टूडू, अनुज कुमार, जटाधारी साहू, बीनू कुमार महतो, सागर रजवार, रामरतन करमाली, कपिल महतो सहित दर्जनों की संख्या में रामगढ़ जिले के विभिन्न क्षेत्रों के झारखंड मुक्ति मोर्चा नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *