कड़ी मेहनत से दिहाड़ी मजदूर के बेटे ने JPSC में प्राप्त किया 104वां रैंक

बोकारो: झारखंड लोक सेवा आयोग के मेंस परीक्षा का रिजल्ट आ गया है और कुछ एक विद्यार्थियों ने अपने दैनिय परिस्थिति के बावजूद मेहनत और लगन के बल पर कामयाबी हासिल की है. इनमें से ही एक है बोकारो जिला निवासी डब्लू साव. एक मामूली दिहाड़ी मजदूर का बेटा होने के बावजूद संसाधनों की कमी झेलते हुए डब्लू ने जेपीएससी में 104 रैंक प्राप्त किया. घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बाद भी डब्लू साव के पिता शिवचरण साव ने अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए दिन-रात जी तोड़ मेहनत की और उन्हें आसमान की बुलंदियों तक पहुंचाया.

डबलू साव अपनी प्राथमिक शिक्षा उत्क्रमित मध्य विद्यालय सदमा कला में पूरी करने के बाद पेटरवार प्लस टू हाई स्कूल से मैट्रिक 2011 में पूरी की और इंटरमीडिएट सीएन कॉलेज रामगढ़ से पूरी करने के बाद स्नातक की डिग्री हजारीबाग संत कोलम्बस कालेज से हासिल की. अन्य लोगों की तरह, सरकारी नौकरी पाने के लिए अपने प्रयास शुरू किए. डब्लू अपने आर्थिक संकटों का बावजूद कभी हार नहीं माना. हजारीबाग जाने के बाद पैसे के अभाव में पार्ट टाइम जॉब भी किया. रोजाना सुबह घरों में अखबार पहुंचाता तो कभी शादी विवाह के मौके पर शादी समारोह में जाकर कैटरिंग में बेटर का भी काम किया करता था. डब्लू ने बताया कि घर में कमरों का अभाव रहने के कारण बाथरूम को ही स्टडी रूम बना लिया वहीं बैठकर 16 से 18 घण्टे पढ़ाई कर अपने लक्ष्य को हासिल किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.