विधानसभा घेराव मामले में आत्मसमर्पण के बाद संजय सेठ को मिली जमानत

सांसद संजय सेठ,  प्रवक्ता प्रतुल शहदेव ने सिविल कोर्ट में किया आत्मसमर्पण 
सांसद संजय सेठ,  प्रवक्ता प्रतुल शहदेव ने सिविल कोर्ट में किया आत्मसमर्पण

पिछले दिनों झारखंड प्रदेश भाजपा की ओर से विधानसभा घेराव कार्यक्रम आयोजित की गई थी। इसी को लेकर भाजपा के कई कार्यकर्ता पर मुकदमा दायर किया गया था। इसी मामले में लोअर कोट में सभी नेताओं ने आत्मसमर्पण किया। कोर्ट द्वारा सभी नेताओं को जमानत दी गई।

जमानत मिलने के बाद सांसद संजय सेठ ने पत्रकार को बताया विधानसभा में नमाज कक्ष खोलना कहीं से भी उचित नहीं है। हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं परंतु सरकार का यह फैसला तुष्टिकरण की राजनीति है। इस फैसले का झारखंड ही नहीं पूरे देश में विरोध हुआ था । संजय सेठ ने कहा कि एक विशेष वर्ग को खुश करने के लिए सरकार इस तरह की कदम उठा रही है।

सांसद ने कहा कि देश के किसी विधानसभा में नमाज पढ़ने के लिए कमरे का आवंटन सरकार द्वारा नहीं किया गया है। यदि करना ही है तो यह व्यवस्था सरकार को सभी धर्म के लोगों के लिए करना चाहिए। जैसे मंगलवार को हम लोग हनुमानजी की पूजा करते हैं। आरती करते हैं। हमें भी सरकार विधानसभा में जगह दे। सरकार का ये फैसला पूरी तरह असंवैधानिक है। उसी के विरोध में भाजपा कार्यकर्ताओं के द्वारा हजारों की संख्या में विधानसभा का घेराव किया गया था। प्रशासन के द्वारा सभी जनप्रतिनिधियो और भाजपा कार्यकर्ताओं पर मानगढ़त आरोप लगाकर मुकदमा दायर किए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.