समरीलाल का जाति प्रमाण पत्र फर्जी, विधायकी खत्म करने की मांग

राज्यपाल को ज्ञापन सौंपता महागठूंधन का शिष्टमंडल
राज्यपाल को ज्ञापन सौंपता महागठूंधन का शिष्टमंडल

रांची । झारखण्ड प्रदेश काँग्रेस कमिटी के अध्यक्ष राजेश ठाकुर के नेतृत्व में कॉंग्रेस एवं झामुमो का संयुक्त शिष्टमंडल राज्यपाल रमेश बैस  से मिलकर कांके विधायक की सदस्यता के मामले को लेकर एक ज्ञापन सौंपा।

शिष्टमंडल का आरोप था कि कांके विधायक समरी लाल का अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र का दावा गलत है । कांके अनुसूचित जाति के लिए विधानसभा चुनाव में आरक्षित है, इसलिए उन्होंने यह गलत जाति प्रमाण पत्र नामांकन के समय प्रस्तुत कर चुनाव लड़ने का काम किया और वे गत चुनाव में निर्वाचित हुए।

पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश कुमार बैठा ने उनके नामांकन के समय भी समरी लाल के अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र के दावे को चुनौती देते हुए जांच कर नामांकन रद्द करने का अनुरोध निर्वाचित पदाधिकारी से किया था। समरी लाल राजस्थान राज्य के प्रवासी हैं एवं उनके पिता रोजगार की तलाश में रांची में प्रवास में आये एवं बस गये। समरी लाल, चूँकि राजस्थान के प्रवासी हैं, अतः झारखंड राज्य में अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र प्राप्त करने की अर्हता नहीं रखते हैं। इस प्रकार समरी लाल को निर्गत जाति प्रमाण पत्र अवैध प्रमाण पत्र था और श्री लाल द्वारा अवैध जाति प्रमाण पत्र का लाभ पूर्णतः यह जानते हुए भी लिया गया कि वे झारखंड के अनुसूचित जाति नहीं हैं।

इस तथ्य की जांच माधुरी पाटिल मामले में सर्वाेच्च न्यायालय के निर्णय के अनुसरण में गठित जाति जाँच समिति द्वारा की गई और जाति जांच समिति सहमत है कि झारखंड राज्य द्वारा उन्हें निर्गत अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र वैध नहीं है । अतः पत्रांक 681 दिनांक 31.10.2009 द्वारा उन्हें प्रदत अनुसूचित जाति (भंगी) का जाति प्रमाण पत्र रद्द कर दिया गया है। इस प्रकार जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 4 एवं 5 के प्रावधान के अनुसार समरी लाल सदस्यता के अयोग्य हैं एवं उनके निर्वाचन का बिंदु ही अब आधारहीन है। समरी लाल को निर्गत अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र रद्द कर दिया गया है इसलिए वे झारखंड राज्य के अनुसूचित जाति के सदस्य नहीं हैं। इस प्रकार उन्होंने झारखंड राज्य की विधानसभा की सदस्यता खो दी है।

शिष्टमंडल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर के अलावा झामुमो के केन्द्रीय महासचिव सुप्रियो भटट्ाचार्य, प्रदेश कांग्रेस के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश, झामुमो के केन्द्रीय प्रवक्ता विनोद पाण्डे एवं रॉंची जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश कुमार बैठा शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.