महाराष्ट्र की सड़कों पर बवाल, शिवैसनिक और भाजपा कार्यकर्ताओं में खूनी संघर्ष

महाराष्ट्र की राजनीति हिंसक हो चली है। मुंबई, नासिक, पूणे सहित कई शहरों में भाजपा और शिवसेना के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प की खबर है। कई जगहों पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। कई शहरों से पत्थरबाजी की खबरें हैं, पूणे के मॉल में तोड़फोड़ की गई, मुंबई में शिवसेना-भाजपा की झड़प में दोनों ओर से दर्जन भर कार्यकर्ता हॉस्पीटल पहुंच गए।

शिवसैनिकों के साथ झड़प के बाद एक भाजपा कार्यकर्ता को ले जाती मुंबई पुलिस
शिवसैनिकों के साथ झड़प के बाद एक भाजपा कार्यकर्ता को ले जाती मुंबई पुलिस

क्या है बवाल की वजह ?

दरअसल, स्वतंत्रता दिवस के दिन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण के दौरान अपने पीछे खड़े सहयोगी से पूछा था कि भाजरत की आजादी के कितने वर्ष हुए ? इसपर पत्रकारों ने भाजपा की ओर से केन्द्र में मंत्री बने नारायण राणे से सवाल पूछा । जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान पूछे गये सवाल के जवाब में नारायण राणे ने कहा कि उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री हैं और उन्हें यह भी नहीं पता कि भारत कितने साल पहले आजाद हुआ ? बाला साहब ठाकरे होते तो उनके कान के नीचे बजाते ।

अपने मुख्यमंत्री के लिए “कान के नीचे बजाने” की बात सुनते ही शिवसैनिक भड़क उठे। उन्होने इसे उद्धव ठाकरे का अपमान बताया। शिवसैनिकों ने मुंबई में नारायण राणे के जुहू स्थित बंगले, महाराष्ट्र बीजेपी के दफ्तर और भी कई जगहों पर पथराव शुरु कर दिया। इसके बाद भाजपा कार्यकर्ता भी भड़क उठे और महाराष्ट्र में जगह-जगह शिवसैनिकों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई, जो अब भी जारी है।

कई शहरों में अगजनी और हिंसा की खबरें,एक-दूसरे की संपत्तियों को पहुंचाया नुकसान
कई शहरों में अगजनी और हिंसा की खबरें,एक-दूसरे की संपत्तियों को पहुंचाया नुकसान

नारायण राणे की गिरफ्तारी के आदेश

महाराष्ट्र पुलिस ने केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे की गिरफ्तारी के आदेश दिये हैं । इसपर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नारायण राणे ने कहा कि पुलिस के पीछे छुपकर वार करते हैं। क्या यही उद्धव ठाकरे की मर्दानगी है। मैं कोई ऐरा-गैरा नहीं कि कोई भी आकर गिरफ्तार कर लेगा, केन्द्रीय मंत्री हूं। नारायण राणे ने कहा कि मैं शिवसेना से नहीं डरता। शिवसेना तो उसी दिन खत्म हो गई थी, जिसदिन मैंने शिवसेना छोड़ा था ।

नंगई नहीं छोड़ी तो घर में घुसकर मारूंगा- नीलेश राणे

उधर, नारायण राणे के बेटे नीलेश राणे ने रत्नागिरी के चिपलूण में शिवसैनिकों की गुंडागर्दी और हिंसा पर कहा कि उनके इसी रवैये के कारण महाराष्ट्र को कोई भी शरीफ आदमी आज खुद को शिवसैनिक कहलाना पसंद नहीं कर रहा। बाला साहब ठाकरे शेर थे तो उनका बेटा गद्दार निकल गया। नीलेश राणे ने यहां तक धमकी दी कि अगर उद्धव ने अपने लोगों को नंगई करने से नहीं रोका तो उन्ही के स्टाइल में जवाब दिया जाएगा । नीलेश राणे ने कहा कि इस बार को गलत आदमी से पंगा ले रहा है, घर में घुस कर मारूंगा ।

नारायण राणे और उद्धव ठाकरे के ईगो की लड़ाई में महाराष्ट्र जलने लगा
नारायण राणे और उद्धव ठाकरे के ईगो की लड़ाई में महाराष्ट्र जलने लगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com