भारतीय किसान यूनियन में पड़ी दरार, पार्टी उपाध्यक्ष ने गठित की नई पार्टी

लखनऊ: भारतीय किसान यूनियन के पूर्व अध्यक्ष चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत की पुण्यतिथि पर भारतीय किसान यूनियन में दरार पड़ गई है. इसके साथ किसान आंदोलन का अहम चेहरा रहे राकेश टिकैत और बीकेयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष नरेश टिकैत अलग-थलग पड़ गए हैं. वहीं, भारतीय किसान यूनियन के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष रहे राजेश सिंह चौहान ने किसानों की नाराजगी के चलते नए संगठन का ऐलान कर लिया है. उन्‍होंने अपने नए संगठन का नाम भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक रखा है, वह इस नए गठित दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए हैं. जबकि भारतीय किसान यूनियन के यूपी प्रदेश अध्‍यक्ष की जिम्‍मेदारी संभालने वाले हरिनाम सिंह वर्मा को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है.

इस दौरान राजेश सिंह चौहान ने कहा कि “मैंने समय-समय पर अपने दृष्टिकोण को सामने रखने का प्रयास किया लेकिन बीकेयू आलाकमान ने न तो कार्यकर्ताओं की बात सुनी और ना ही किसानों की समस्याओं पर ध्यान दिया. इसके साथ ही उन्होंने नरेश टिकैत और राजेश टिकैत के महेंद्र सिंह टिकैत के आदर्शो से भटकने की बात कही.”

वहीं भारतीय किसान यूनियन ने संगठन के खिलाफ गलत नीतियों की वजह से सात पदाधिकारियों को बर्खास्‍त किए जाने के मुद्दे पर राकेश टिकैत ने कहा कि किसान हितों पर कुठाराघात करते हुए कुछ लोगों ने भारतीय किसान यूनियन से अलग कथित संगठन बनाने की घोषणा की है. किसान हितों के विरोधी ऐसे तत्वों को तत्काल प्रभाव से बीकेयू से बर्खास्त किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.