रांची ग्रामीण एसपी का हाथ, जमीन दलालों के साथ: बाबूलाल मरांडी

तिलता के घटना की उच्चस्तरीय जांच हो, ग्रामीण एसपी को अविलंब हटाया जाए
तिलता के घटना की उच्चस्तरीय जांच हो, ग्रामीण एसपी को अविलंब हटाया जाए

रांची।  नेता विधायक दल एवम राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने रांची जिला अंतर्गत रातू प्रखंड के तिलता गांव का दौरा किया।

हेमंत राज में आदिवासी दलित सुरक्षित नही: बाबूलाल मरांडी

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि हेमंत सरकार में विधि व्यवस्था की स्थिति बद से बदतर हो चुकी है। आदिवासी दलित सुरक्षित नही है। आये दिन उनके ऊपर हमले हो रहे। उनकी जमीन सुरक्षित नही है।

उन्होंने कहा कि राँची से सटे रातू थानांतर्गत तिलता मौजा में स्थानीय ग्रामीण वर्षों से पूजा करते आ रहे हैं। उक्त जमीन पर निषेधाज्ञा लागू होने के बावजूद विगत 30 सितंबर को 50-60 हथियारबंद लोग जमीन पर कार्य करा रहे थे। स्थानीय ग्रामीणों के विरोध पर बिचौलियों ने एक आदिवासी विधवा सुको उराँव पर गाड़ी चढ़ा दी। दोनों ओर से हुई झड़प में एक बिचौलिए की मौत हो गई।

आदिवासी पर गाड़ी चढ़ा देते हैं जमीन दलाल 

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि आज सुको ज़िन्दगी और मौत से जूझ रही है, न कोई सरकारी मदद मिली न कोई चिकित्सा सहायता, उल्टे पुलिस 3 ग्रामीणों को पकड़कर ले गई। उन्होंने सवाल किया कि क्या अब क्या अपनी परंपरा और जमीन बचाने के लिए आवाज़ उठाने वाले आदिवासियों को भी न्याय नहीं मिलेगा ?

अकर्मण्य ग्रामीण एसपी को तुरंत निलंबित करे सरकार 

उन्होंने कहा कि मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिये। साथ ही ऐसे जमीन दलालों को चिह्नित कर जेल भेजा जाए, सुको उराँव के बेहतर चिकित्सा की व्यवस्था हो और अकर्मण्य ग्रामीण एसपी को तत्काल निलंबित किया जाए।

बाबूलाल ने कहा कि सरकार त्वरित कार्रवाई नही करती है तो पार्टी न्याय दिलाने के लिये आन्दोलन करेगी।

बाबूलाल मरांडी के साथ प्रवक्ता सरोज सिंह, सुरेश साहू,बल्कु उरांव, इंद्रजीत यादव, जितेंद्र वर्मा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com