प्रिया दूबे और उनके पति संतोष ने रांची से लेकर दिल्ली तक जमा की अकूत संपत्ति

ईडी टीम ने अफसर पति पत्नी की संपत्ति को जब्त कर ली है।
ईडी टीम ने अफसर पति पत्नी की संपत्ति को जब्त कर ली है

रांची ।  झारखंड पुलिस की आईजी प्रशिक्षण प्रिया दूबे और उनके पति संतोष कुमार दूबे आरपीएफ में डीआईजी हैं। पटना की ईडी टीम ने अफसर पति पत्नी की संपत्ति को जब्त कर ली है। इनपर आय से अधिक संपत्ति का आरोप है। शिकायत के बाद ईडी ने अफसर पति-पत्नी पर सीबीआई में प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज हुई है। इसके अलावा मनी लाउंड्रिंग का मामला भी दर्ज किया गया है। इसके बाद अफसर पति-पत्नी के रांची और दिल्ली के ठिकानों पर छापेमारी की गई और उनकी सारी संपत्ति का जब्त कर लिया गया है।

संतोष और प्रिया की संपत्ति की लिस्ट है लंबी
ईडी के अधिकारियों ने बताया कि संतोष कुमार दूबे, प्रिया दूबे के पास अकूत संपत्ति मिली है। फिलहाल इनके नाम पर जो भी संपत्ति है उसे जब्त करने की कार्रवाई की जा रही है। ईडी ने अशोकनगर में 30 लाख में खरीदी गई एक प्लॉट, दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी में 3 कॉर्मिशियल दुकान और एक फ्लैट जिसकी कीमत 72 लाख 40 हजार आंकी गई है को जब्त किया है। वहीं रांची में भी करीब 44 लाख रुपये में ग्रीन व्यू हाइट्स में खरीदी गई फ्लैट को भी जब्त किया है।

पति-पत्नी की 2.65 करोड़ रुपये की अवैध कमाई का खुलासा

ईडी की जांच में पता चला है कि संतोष और प्रिया ने ज्यादा से ज्यादा अचल संपत्ति जमा की है। ज्यादातर अचल संपत्ति संतोष कुमार दूबे ने पत्नी प्रिया दूबे और पिता स्व शंकर दयाल दूबे के नाम पर ले रखी है। सीबीआई ने 10 जुलाई 2013 को आरपीएफ के तत्कालीन कमांडेंट संतोष कुमार दुबे और अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था। सीबीआई ने प्रिया दुबे और संतोष कुमार दुबे की 1998 से 2013 के बीच अर्जित सैलरी और दूसरे स्रोतों से होने वाली आय की जानकारी जुटायी थी। जांच में यह बात आई थी कि ज्ञात स्रोत से 1 करोड़ 57 लाख 27 हजार की आय दोनों ने की थी, लेकिन उनके पास से 2.65 करोड़ की संपत्ति मिली।

सीबीआई ने जांच के बाद आरोप लगाया था कि प्रिया और संतोष ने अफसर के पद पर रहते हुए अपनी आय से 1.48 करोड़ अधिक की कमाई की। आरोप है कि इन दोनों अफसरों ने भ्रष्ट और गलत तरीकों से संपत्ति जमा की है।

सीबीआइ को जांच में यह जानकारी मिली कि पति-पत्नी ने नौकरी की अवधि में एक करोड़ 57 लाख 27 हजार रुपये की आय अर्जित की थी। इस अवधि में दोनों ने 2.65 करोड़ की संपत्ति अर्जित की थी। सीबीआइ ने जांच में पाया कि दोनों ही पदाधिकारियों ने उक्त अवधि में आय से 1.48 करोड़ रुपये अधिक की संपत्ति अर्जित की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *