प्रमोद मिश्रा या मिसिर बेसरा बन सकता है माओवादी ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो चीफ !

माओवादी मिसिर बेसरा की फाइल तस्वीर
माओवादी मिसिर बेसरा की फाइल तस्वीर

………………………………….
उज्ज्वल दुनिया संवाददाता/ अजय निराला

हजारीबाग। माओवादी टॉप कमांडर प्रशांत बोस के गिरफ्तार होने के बाद प्रमोद मिश्रा को सुप्रीमो बनाए जाने की खबर निकल कर सामने आ रही है। सुरक्षा एजेंसियों को इस संबंध में जानकारी मिली है। उसके बाद सभी इसके बारे में जानकारी जुटाने लगे हैं। माओवादी ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो के सचिव के रूप में प्रमोद मिश्रा का नाम सामने आने के बाद माओवादियों के बीच विरोध भी शुरू हो गया है।

दरअसल यह विरोध मिसिर बेसरा, अनल, पतिराम मांझी आदि ने शुरू किया है। माओवादी मिसिर बेसरा ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो की जगह ईस्टर्न रीजनल कमांड के कामजात में नाम इस्तेमाल कर रहा है।

ईस्टर्न रीजनल ब्यूरो का मुख्यालय सारंडा में मौजूद है। जो जानकारी निकल कर सामने आ रही है उसके अनुसार प्रमोद मिश्रा बिहार के गया के छकरबंधा में कैंप कर रहा है। प्रशांत बोस का बेहद करीबी है प्रमोद मिश्रा। वह मूल रूप से बिहार के जहानाबाद और गया सीमावर्ती का रहने वाला है।

वर्ष 2017 में जेल से वह बाहर निकला है और माओवादियों का पोलित ब्यूरो सदस्य है। जेल से निकलने के बाद प्रमोद मिश्रा एक बार फिर से सक्रिय हो गया था। सारंडा में वर्ष 2018 में ईआरबी की बैठक में अचानक प्रमोद मिश्रा पहुंचा था, जिसके बाद विरोध शुरू हो गया था। इस दौरान प्रशांत बोस ने टॉप माओवादी नेताओं को बताया था कि प्रमोद मिश्रा उसके संपर्क में है और माओवादियों के लिए काम कर रहा है। इस दौरान प्रशांत बोस ने प्रमोद मिश्रा के साथ में बातचीत का प्रमाण भी अन्य माओवादी नेताओं को दिखाया था। इसी बैठक में प्रमोद मिश्रा को माओवादियों के मध्य और कोयल शंख पर निगरानी की जिम्मेवारी सौंपी गई थी।

वर्ष 2020 में छकरबंधा में माओवादियों की बड़ी बैठक हुई थी। इस बैठक में प्रशांत बोस और उसकी पत्नी शीला मरांडी पहुंची थी। माओवादी टॉप कमांडर प्रशांत बोस ने पत्र लिख कर खुद को ईआरबी के सचिव के पद से हटाने को कहा था।

पत्र के माध्यम से उसने कहा था कि वह ईआरबी के सचिव के पद पर नहीं रहना चाहता है। उसकी जगह किसी और को सचिव बनाया जाए। पत्र के जवाब में प्रशांत बोस की जगह प्रमोद मिश्रा और मिसिरि बेसरा को सचिव बनाने का जिक्र किया गया था। प्रमोद मिश्रा की पकड़ हिंदी भाषी क्षेत्रों में अधिक है, जबकि मिसिर बेसरा के साथ चार सेंट्रल कमेटी सदस्य हैं और वह ईआरबी के मुख्यालय सारंडा में ही रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *