बिहार के मधुबनी में थाना प्रभारी और दारोगा ने सबके सामने जज पर तान दी पिस्टल

दारोगा और एस एच ओ ने जज को गंदी-गंदी गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी
दारोगा और एस एच ओ ने जज को गंदी-गंदी गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी

झंझारपुर । ​मधुबनी जिले में एक जज पर थानेदार और दरोगा ने ही पिस्टल तान दी। मामला यहीं नहीं रुका। दोनों पुलिस अधिकारियों ने जज के चैंबर में घुसकर उनके साथ गालीगलौज और मारपीट भी की।

अदालत में लेट आने पर जज ने डाँटा था

घोघरडीहा थाने में तैनात थानाध्यक्ष गोपाल प्रसाद और दारोगा (SI) अभिमन्यु कुमार एक शिकायत पर चल रही सुनवाई को लेकर गुरुवार को जज अविनाश कुमार के सामने पेश हुए थे। लेट पहुंचने पर जज अविनाश कुमार ने उन्हें डाँटा था। इसी खुन्नस में अदालत की कार्यवाही खत्म होने के बाद दोनों जज अविनाश कुमार के चैंबर में घुसे और उनपर पिस्टल तान दिया। दोनों लगातार जज अविनाश कुमार को मां-बहन की गालियां दे रहे थे।

थाना प्रभारी और दारोगा को काबू में करने के बाद वकीलों ने दोनों की जमकर धुनाई की
थाना प्रभारी और दारोगा को काबू में करने के बाद वकीलों ने दोनों की जमकर धुनाई की

डर से थर-थर कांप रहे थे जज अविनाश कुमार

झंझारपुर बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष बलराम साह ने बताया कि हंगामा होते ही हम लोग जज के चैंबर में घुसे। हमने देखा कि SI अभिमन्यु कुमार जज अविनाश कुमार पर पिस्टल ताने हुए हैं, साथ ही गंदी-गंदी गालियां भी दे रहे हैं। इसके बाद वहां मौजूद सभी वकील और कोर्ट में रहने वाले पुलिसकर्मी आए और जज को सुरक्षित निकाला। वे डर से थर-थर कांप रहे थे।

पटना हाईकोर्ट ने DGP और SP को तलब किया

जज अविनाश कुमार के भेजे गए लेटर पर पटना हाईकोर्ट ने बिहार के चीफ सेक्रेटरी, DGP, गृह विभाग के प्रधान सचिव और मधुबनी SP को नोटिस जारी किया है। DGP को सील्ड कवर में 29 नवंबर तक स्टेटस रिपोर्ट फाइल करने को कहा है। इसी दिन मामले में हाईकोर्ट खुद सुनवाई करेगी।

जबतक एसपी पर कार्रवाई नहीं होती, अदालत का कामकाज ठप रहेगा- बार एसोसिएशन

इस मामले में झंझारपुर बार एसोसिएशन ने दोनों पुलिस अधिकारियों के साथ ही मधुबनी SP पर भी कार्रवाई की मांग की है। उन्हें इस मामले में आरोपित किए जाने की मांग की गई है। बलराम साह का कहना है कि जब तक ऐसा नहीं होता है, झंझारपुर व्यवहार न्यायालय में कामकाज स्थगित रहेगा।

पुलिस एसोसिएशन ने की निष्पक्ष जांच की मांग

इस प्रकरण में बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने एक बड़ी मांग कर दी है। उन्होंने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच पटना हाई कोर्ट के जज से कराने की मांग कर दी है। निष्पक्ष जांच की रिपोर्ट आने पर उसमें जो कोई भी दोषी हो, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए। न्यायपालिका का हम सम्मान करते हैं। मगर, मजिस्ट्रेट को पुलिस वालों को गाली देने का हक किसी ने नहीं दिया है। उन्होंने देर से पहुंचने पर पुलिस वालों के साथ गालीगलौज किया। उनकी बेइज्जती की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com