टंडवाः पथराव में 27 पुलिसकर्मी हुए थे घायल, पुलिस ने किया फ्लैग मार्च

टंडवा में रैयतों के हिंसक आंदोलन के बाद फ्लैग मार्च करती पुलिस
टंडवा में रैयतों के हिंसक आंदोलन के बाद फ्लैग मार्च करती पुलिस

उज्जवल दुनिया संवाददाता
टंडवा। टंडवा में एनटीपीसी परिसर में रैयतों और ग्रामीणों द्वारा पुलिस पर पथराव की घटना में 27 पुलिसकर्मी घायल हुए थे। गंभीर रूप से घायल 7 जवानों को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए किया रांची रेफर कर दिया गया है। अन्य जवानों का ईलाज एनटीपीसी अस्पताल में चल रहा है।

दो दर्जन से अधिक गाड़ियों में लगाई आग

मंगलवार को हुई हिंसा में 2 दर्जन से अधिक हाईवा, ट्रक और बाइक को प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी थी। इस अगजनी में एनटीपीसी व वाहन मालिकों को करोड़ो का नुकसान हुआ है । घटना के बाद एनटीपीसी कार्यालय परिसर पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है । डीआईजी, डीसी व एसपी ने बुधवार को घटनास्थल का जायजा लिया ।

एनटीपीसी के जीजीएम तजेंद्र गुप्ता ने क्या कहा ?

एनटीपीसी जीजीएम तजेंद्र गुप्ता व अन्य
एनटीपीसी जीजीएम तजेंद्र गुप्ता व अन्य

एनटीपीसी के जीजीएम तजेंद्र गुप्ता ने दावा किया है कि रैयतों व ग्रामीणों ने आंदोलन के आड़ में परियोजना व सुरक्षाकर्मियों पर बम से हमला किया था । पिस्टल लहराकर दहशत फैलाने का भी प्रयास हुआ । जीजीएम ने कहा परियोजना कार्यालय पर हमला कर दो दर्जन कंप्यूटर व लैपटॉप लूट लिये गये । उन्होने दावा किया कि मंगलवार हुई हिंसा में एनटीपीसी को करोड़ो का नुकसान हुआ है । इस मामले में  दो दर्जन से अधिक रैयतों के विरुद्ध टंडवा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

पुलिस ने किया फ्लैग मार्च

आपातकालीन प्रशासनिक कार्यक्रम के तहत मंगलवार शाम को पुलिस के जवानों ने टंडवा में फ्लैग मार्च किया। एनटीपीसी के गेट नंबर 1 से सिमरिया अनुमंडल पदाधिकारी सुधीर कुमार दास तथा टंडवा पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी शंभू कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सुरक्षाबलों ने टंडवा में फ्लैग मार्च किया। बताया गया कि भारतीय सिविल कोड के धारा 144 प्रयोग के बाद स्थिति सामान्य नहीं होने पर फ्लैग मार्च किया गया । 7 मार्च को आगजनी से उत्पन्न नाजुक वातावरण व परिस्थिति को संभालने को लेकर फ्लैग मार्च किया गया, जो टंडवा के मुख्य मार्गो से गुजर कर पुलिस के जवानों ने शांति के संदेश दिए। जिसमें जिला पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी शामिल थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.