जेएमएम नेता के इशारे पर पुलिस कर रही परिजनों को प्रताड़ित : पंकज यादव

झूठे केस में परिजनों को जेल भेजने के लिए गढ़वा पुलिस है आतुर: आरोप
झूठे केस में परिजनों को जेल भेजने के लिए गढ़वा पुलिस है आतुर: आरोप

गढ़वा।  राष्ट्रीय खेल घोटाले की जाँच सीबीआई को दिलाने वाले सोशल एक्टिविस्ट पंकज यादव ने हाई कोर्ट में इन्टर्लाक्यटोरी एप्लीकेशन डाल कर रंका डीएसपी सुदर्शन आस्तिक तथा रंका थाना प्रभारी रामेश्वर उपाध्याय पर अपने परिजनों को को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया हैं. हाई कोर्ट में फाइल अपने आईए में उन्होंने झारखण्ड सरकार को पार्टी बनाते हुए होम गार्ड के जवान मनोज कुमार पासवान द्वारा झूठे एसटी – एससी केस में उनके मामा बलदेव यादव सहित आठ लोगो को फसाने का आरोप लगाया है ।

पंकज यादव का आरोप है कि उन्होंने अपने पिटीशन में इस बात का उल्लेख किया है कि गढ़वा जेएमएम के युवा नेता नितेश सिंह के इशारे पर गढ़वा पुलिस उनके परिजनों को झूठे केस में जेल भेजने को आतुर है .जिला न्यालय में बेल के लिए प्रयासरत उनके परिजनों को रंका डीएसपी केस डायरी नहीं भेज रहे हैं .नितेश सिंह के आपराधिक इतिहास का उल्लेख करते हुए पंकज यादव ने उन्हें मंत्री मिथिलेश ठाकुर का राइट हैंड बताया है .इससे पहले नितेश सिंह कोरोना काल में राइफल लहराते हुए सुर्ख़ियों में आये थे .

उल्लेखनीय है कि पंकज यादव ने क्रिमिनल रिट याचिका दायर कर माननीय न्यालय को बताया था कि खेल घोटाला सीबीआई को सौपें जाने के बाद पूर्व मंत्री बंधू तिर्की ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर याचिकर्ता को सबक सिखाने तथा एसटी – एससी केस में फसाने की धमकी दी थी. जिसके कुछ दिन बाद ही पंकज यादव के मामा समेत उनके परिवार के आठ सदस्यों पर एसटी – एससी एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया था .अब पंकज क्रिमिनल रिट याचिका में आईए फाइल कर इसपर जल्द सुनवाई के लिए आग्रह किया है .

Leave a Reply

Your email address will not be published.