पीएम मोदी तीन देशों की यात्रा पर कल होंगे रवाना, 50 से ज्यादा ग्लोबल बिजनेस लीडर से करेंगे मुलाकात

नई दिल्ली: पीएम मोदी इस वर्ष के पहले विदेश दौरे पर कल रवाना होंगे. वे जर्मनी, डेनमार्क और फ़्रांस का दौरा करेंगे. देश देश की तीन दिवसीय यात्रा में उनका शेड्यूल काफी व्यस्तता से भरा रहने वाला है. अपने दौरे पर वो सात देशों के 8 विदेशी नेताओं से मुलाकात करेंगे. जानकारी के अनुसार 65 घंटों के अंदर पीएम मोदी के 25 बैठकों और मुलाकातों का टाइमटेबल बनाया गया है.

अपनी तीन देशों के यात्रा में पीएम मोदी 50 से ज्यादा ग्लोबल बिजनेस लीडर्स से मुलाकात करेंगे. भारतीय समुदाय के हजारों लोगों से भी संपर्क साधेंगे. पीएम की ये यात्रा ऐसे समय में हो रही है, जब यूक्रेन संकट को लेकर रूस के खिलाफ यूरोप के ज्यादातर देश एकजुट हो चुके हैं. रूस-यूक्रेन युद्ध पर भारत का नजरिया अब तक तटस्थ रहा है. वह जोर देकर कहता रहा है कि इस संकट का हल बातचीत से ही निकाला जा सकता है. इसी वजह से संयुक्त राष्ट्र में भारत रूस के खिलाफ कई मौकों पर वोटिंग से गैरहाजिर रहा है. इस पर अमेरिका आदि देश नाखुशी भी जता चुके हैं.

विदेश यात्रा के दौरान पीएम मोदी एक-एक रात जर्मनी और डेनमार्क में गुजारेंगे. उनकी दो रातें विमान में गुजरेंगी. पेरिस में पीएम मोदी की मुलाकात फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से होगी, जो हाल ही में तगड़ी चुनावी लड़ाई में जीतकर फिर से राष्ट्रपति बने हैं. विदेश मंत्रालय के मुताबिक, बर्लिन में पीएम मोदी जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज़ के साथ द्विपक्षीय वार्ता होगी. दोनों नेता भारत-जर्मनी अंतर सहकारी परामर्श के छठे सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे.

चांसलर शोल्ज़ ने पिछले साल एंजेला मर्केल के बाद कार्यभार संभाला था. उसके बाद उनकी पीएम मोदी के साथ ये पहली मुलाकात है. भारत और जर्मनी ने राजनयिक संबंधों की स्थापना के 70 साल पूरे होने का जश्न भी मनाया था. मोदी की यात्रा दोनों के बीच व्यापक क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने, क्षेत्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करने और आपसी हित के वैश्विक मामलों पर चर्चा का माध्यम बनेगी.

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी डेनमार्क के प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन के निमंत्रण पर कोपेनहेगन जाएंगे. जहां वह डेनमार्क द्वारा आयोजित दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. इस दौरान पीएम मोदी और डेनमार्क के प्रधानमंत्री के बीच द्विपक्षीय वार्ता होगी. पीएम मोदी डेनमार्क की महारानी मार्ग्रेथ-II से भी मुलाकात करेंगे. पीएम मोदी की डेनमार्क यात्रा का मकसद हरित सामरिक सहयोग और आपसी संबंधों को बढ़ावा देना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.