पीएम मोदी पहुंचे पेरिस, राष्ट्रपति मैक्रों ने गर्मजोशी के साथ किया स्वागत

पेरिस/नई दिल्ली: अपनी घनिष्ठ मित्रता और मजबूत द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों के संकेत में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का राजधानी पेरिस में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने एलिसी पैलेस में गर्मजोशी से स्वागत किया. दोनों नेताओं ने हाथ मिलाया और गर्मजोशी से गले मिले. राष्ट्रपति मैक्रों और उनकी पत्नी ब्रिगिट मैक्रों लिमोसिन से बाहर निकलते ही प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करने के लिए एलिसी पैलेस के बाहर खड़े थे. दोनों नेताओं ने एक गर्मजोशी से हाथ मिलाने और फिर एक करीबी गले लगाने का आदान-प्रदान किया, जो उनकी घनिष्ठ मित्रता का प्रतीक था.

राष्ट्रपति मैक्रों ने तब पीएम मोदी के कंधे पर हाथ रखा, जब वे फोटोग्राफरों के लिए पोज देने के लिए एलिसी पैलेस के द्वार पर खड़े थे. इसके बाद दोनों नेता आपसी वार्तालाब के लिए अंदर चले गए. दोनों पक्षों को प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता करनी है. पेरिस पहुंचते ही प्रधानमंत्री ने कहा कि फ्रांस भारत के सबसे मजबूत साझेदारों में से एक है.

पीएम ने ट्वीट कर कहा, “पेरिस पहुंचा. फ्रांस भारत के सबसे मजबूत साझेदारों में से एक है, हमारे देश विविध क्षेत्रों में सहयोग कर रहे हैं.” प्रधान मंत्री मोदी 24 अप्रैल को दूसरी बार फ्रांसीसी राष्ट्रपति चुनाव जीतने वाले राष्ट्रपति मैक्रोन से मिलने वाले पहले अंतर्राष्ट्रीय आगंतुक हैं. भारत लौटने से पहले पीएम मोदी की पेरिस यात्रा एक छोटा पड़ाव है.

कैनबरा में आठ परमाणु शक्ति वाली पनडुब्बियों को पहुंचाने के लिए ऑस्ट्रेलिया, यूके और यूएस गठबंधन – ऑस्ट्रेलिया, यूके और यूएस गठबंधन के गठन के बाद से भारत और फ्रांस के बीच संबंध घनिष्ठ हो गए हैं. पिछले साल AUKUS के गठन ने ऑस्ट्रेलिया को फ्रांस के साथ बहु-अरब डॉलर के पारंपरिक पनडुब्बी सौदे को अचानक रद्द करने के लिए प्रेरित किया, जिससे पेरिस नाराज हो गया. तब से फ्रांस एक विश्वसनीय और विश्वसनीय भागीदार के रूप में भारत पर अधिकाधिक निर्भर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.