राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर देश्वसियों को पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएँ

नई दिल्ली: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देश में पंचायती राज प्रणाली को संवैधानिक दर्जा देने के लिए हर साल 24 अप्रैल को मनाए जाने वाले राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर शुभकामनाएं दी. “पंचायतें भारतीय लोकतंत्र के स्तंभ हैं, जिनकी ताकत में नए भारत की समृद्धि निहित है, आइए हम एक आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में अपनी पंचायतों को और सशक्त बनाने का संकल्प लें,” प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा.

प्रधानमंत्री जम्मू और कश्मीर में राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में भाग लेने और लगभग 20,000 करोड़ रुपये की कई विकास पहलों का उद्घाटन और आधारशिला रखने के लिए तैयार हैं. भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र द्वारा जम्मू-कश्मीर के तत्कालीन विशेष संवैधानिक दर्जे को समाप्त करने और 5 अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद से नरेंद्र मोदी की यह पहली यात्रा होगी

पीएम यहां से देश भर की सभी ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे. वह सांबा जिले की पल्ली पंचायत जाएंगे. पंचायती राज मंत्रालय सेवाओं और सार्वजनिक वस्तुओं के वितरण में सुधार के लिए उनके अच्छे कार्यों को मान्यता देने के लिए पंचायत प्रोत्साहन योजना के तहत इस दिन देश भर में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली पंचायतों/ राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों को पुरस्कृत कर रहा है. पुरस्कार विभिन्न श्रेणियों के तहत दिए जाते हैं, जैसे दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार (डीडीयूपीएसपी), नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार (एनडीआरजीजीएसपी), बाल-सुलभ ग्राम पंचायत पुरस्कार (सीएफजीपीए), ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) पुरस्कार और ई- पंचायत पुरस्कार. पंचायती राज मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस साल, राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार-2022 (मूल्यांकन वर्ष 2020-21) के लिए पंचायतों को कुल 322 पुरस्कारों की घोषणा की गई है. प्रधानमंत्री सांबा के अंतर्गत पल्ली ग्राम पंचायत में समारोह स्थल से डिजिटल रूप से देश के 31 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 322 पुरस्कार विजेता पंचायतों के बैंक खाते में 5 लाख रुपये से 50 लाख रुपये तक की पुरस्कार राशि के रूप में कुल 44.70 करोड़ रुपये सीधे हस्तांतरित करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.