मुठभेड़ में ढेर हुए PLFI नक्सली के खिलाफ 50 से अधिक मामले दर्ज, पत्नी से पूछताछ जारी

खूंटी: पुलिस के साथ हुए मुठभेड़ में मारा गया पीएलएफआई पूर्व में एरिया कमांडर लाका पाहन के खिला विभिन्न थानों में 61 मामले दर्ज है. इसमें से लगभग 48 मामले खूंटी जिले के थानों में दर्ज है. जबकि चाईबासा में 9 मामले और रांची में 4 मामले दर्ज हैं. बुधवार सुबह मुठभेड़ में लाका के मारे जाने के बाद पुलिस ने उसकी पत्नी को हिरासत लिया है और पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

बताया गया है कि खूंटी में आदिवासी मेला का आयोजन किया गया था और उसी मेला में शामिल होने के लिए वह मुरहू के कोटा गांव आया हुआ था. पुलिस ने इस जानकारी के आधार पर सर्च अभियान चलाते हुए नक्सली को मार गिराया. इस अभियान में एसपी और एसडीपीओ समेत कई थाना की पुलिस शामिल हुई.

लाका पाहन के बारे में प्राप्त जानकारी के अनुसार वो 2020 में जेल से निकला था. इसके बाद दुबारा सक्रिय हो गया. रांची, खूंटी, गुमला, लोहरदगा और सिमडेगा जिलों में कुख्यात नक्सली के रूप में जाना जाता था. इससे पूर्व रांची और खूंटी पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में वर्ष 2012 में लाका पाहन को गिरफ्तार किया गया था. वर्ष 2020 में जेल से निकला और संगठन से जुड़ गया. पीएलएफआई उग्रवादी जीदन गुड़िया के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद लाका पाहन का कद बढ़ गया था.

जानकारी के अनुसार लाका पाहन ने 12 अप्रैल को अड़की थाना क्षेत्र के चैपी के पास एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था. 4 फरवरी को चाईबासा जिले के बंदगांव थाना क्षेत्र में सड़क निर्माण कार्य करा रहे संवेदक के मुंशी और मजदूरों के साथ लाका पाहन दस्ता ने मारपीट की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.