45 लोगों को बचाने के लिए 45 घंटे चला ऑपरेशन, बचाने के दौरान दो की गई जान

घायलों का ईलाज सदर अस्पताल में चल रहा है
घायलों का ईलाज सदर अस्पताल में चल रहा है

देवघर:  45 घंटे से चल रहे देवघर में एयरफोर्स का रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो गया। त्रिकुट पर्वत के पास 2 हजार फीट आसमान में फंसे 45 लोगों का रेस्क्यू करा लिया गया। एयरफोर्स के कई जांबाज कमांडो ने इस मिशन को अंजाम दिया। इस रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान कुछ पल ऐसे भी आए जब ये मंजर देख रहे लोगों की सांस में सांस अटक गई। हर पल ऐसा लग रहा था कि कहीं कोई हादसा न हो जाए। इसी दौरान एक शख्स की रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान ही सेफ्टी बेल्ट टूट गई और नीचे गिरकर उसकी मौत हो गई। हालांकि ये एक ऐसा हादसा था जिसकी किसी ने उम्मीद नहीं की थी।

‘आकाशदूतों’ ने दिखाया- क्यों इंडियन एयरफोर्स है दुनिया में सर्वश्रेष्ठ


इसके बाद एयरफोर्स के जवानों ने रेस्क्यू कर रहे हेलीकॉप्टरों के नीचे जाल ही बिछा डाले ताकि फिर अगर कोई नीचे गिरे तो उसकी जान बचाई जा सके। ‘आकाशदूतों’ की ये योजना काम भी भी आई। रेस्क्यू के दौरान ही एक महिला हेलीकॉप्टर तक पहुंचने से पहले ही फिसलकर नीचे जा गिरी। लेकिन वो जाल पर गिरी और उसकी जान बचा ली गई।आखिर में बाकी बचे सभी 48 लोगों को एयरफोर्स के जांबाजों ने 50 घंटे के बाद मौत के चंगुल से सुरक्षित निकाल लिया गया।

भ्रष्टाचार और लापरवाही के कारण हुआ हादसा

लेकिन अब इस मामले से जुड़े कई खुलासे भी होने शुरू हो गए हैं। बताया जा रहा है कि कोरोना काल में बंद किए गए रोपवे का परिचालन शुरू करने से पहले मेंटेनेंस चेक नहीं किया गया था। लूट की पराकाष्‍ठा का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सरकार की ओर से इसके मेंटेनेंस के लिए पैसे लिए जाते रहे लेकिन रोपवे की मरम्मती और देखभाल तक नहीं की गई और सीधे इसे चालू कर दिया गया। अब इस पूरे मामले को अब झारखंड उच्‍च न्‍यायालय ने संज्ञान ले लिया है। बताया जा रहा है कि जब घटना हुई तो मेंटेनेस अधिकारी भाग खड़े हुए थे।

मुख्यमंत्री सोरेन ने जवानों को किया सलाम

रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म होने के बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा, ‘रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा हो चुका है। दुर्भाग्य से इस हादसे में हमने कुछ लोगों को खो दिया। अपनी जान जोखिम में डाल कर लोगों की मदद करने वाले एयरफोर्स, आर्मी, एनडीआरएफ और आईटीबीपी के जवानों तथा प्रशासन को सलाम करता हूँ। शीघ्र मामले की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी तथा हताहत होने वाले लोगों को मदद हेतु निर्णय लिया जाएगा।’

हादसे में इनकी मौत

हादसे में देवघर के सारठ प्रखंड की सुरसा देवी की मौत हो गई। एक घायल महिला की भी मौत हुई, लेकिन प्रशासन ने पुष्टि नहीं की है। वहीं रेस्क्यू के दौरान गिरन से सोमवार को राकेश कुमार मंडल निवासी सरैयाहाट प्रखंड नावाडीह और मंगलवार को देवघर के झोसागड़ी की शोभा देवी की जान चली गई। शोभा का पूरा परिवार फंसा था, जिसे निकाल लिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.