झारखंड के अधिकारी मुख्यमंत्री के काम में अटका रहे रोड़ा : बंधु तिर्की

SC-ST प्रमोशन पर 15 दिन में निर्णय लें अधिकारी: बंधु
SC-ST प्रमोशन पर 15 दिन में निर्णय लें अधिकारी: बंधु

रांची। एससी-एसटी अधिकारी, कर्मचारी प्रोन्नति मामला गरमा गया है । एससी-एसटी अधिकारियों-कर्मचारियों के प्रोन्नति मामले में झारखंड में राजनीति भी तेज हो गई है । कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विधायक बंधु तिर्की ने 15 दिन में अधिकारियों के निर्णय लेने का अल्टीमेटम दिया है ।

मुख्यमंत्री के आदेश के बावजूद टाल-मटोल कर रहे हैं अधिकारी

बंधु तिर्की ने कहा कि अधिकारी बेलगाम हो गए हैं । बड़े अधिकारी एससी-एसटी अधिकारी और कर्मचारी के खिलाफ हैं । इससे सरकार की बदनामी हो रही है । अधिकारी संघीय व्यवस्था को कमजोर करने में लगे हुए हैं । मुख्यमंत्री के आदेश होने के बावजूद भी अधिकारी रोड़ा अटकाने में लगे रहते हैं, काम होने नहीं दिया जा रहा है ।

बंधु ने मुख्य सचिव को भी निशाने पर लिया

बंधु तिर्की ने कहा कि 2 साल पूर्व उनकी ओर से एससी-एसटी प्रोन्नति को लेकर विधानसभा में सवाल उठाया गया था । इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष द्वारा विशेष कमेटी गठित की गई थी । कमेटी की रिपोर्ट विधानसभा अध्यक्ष को दी गई है । विधानसभा अध्यक्ष के माध्यम से सरकार को रिपोर्ट सौंपी गई है । उसके बाद उस रिपोर्ट की समीक्षा भी की जा चुकी है । समीक्षा में काफी समय लगा, हालांकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को उसकी रिपोर्ट दी गई तो सीएम ने मंजूरी भी दे दी, लेकिन अधिकारी उस फाइल को दबा कर बैठे हैं । विभागीय मंत्री के अनुमोदन के बाद संचिका को मुख्य सचिव के पास भेजा गया है, अब मुख्य सचिव को अनुमोदन कर मुख्यमंत्री के पास भेजना है ।

झारखंड सरकार के मुख्य सचिव ने वर्ष 2020 में प्रोन्नति पर रोक लगाने से संबंधित आदेश जारी किया था । इसके बाद राज्य सरकार की सभी सेवाओं एवं पदों पर प्रोन्नति अगले आदेश तक तत्काल प्रभाव से रोक दी गई थी । मुख्यमंत्री के आदेश के बाद सभी विभागीय प्रमुख, आयुक्त और जिलों के उपायुक्तों को इस बाबत निर्देश जारी किए गए थे । इस मामले में हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है, जिस पर सुनवाई चल रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *