स्वर्ण मंदिर में हत्या, गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने पर युवक को पीट-पीट कर मार डाला

काफी देर तक खुले में पड़ा रहा शव, बाद में उसपर चादर डाला गया
काफी देर तक खुले में पड़ा रहा शव, बाद में उसपर चादर डाला गया

अमृतसर (पंजाब) । सिखों के सबसे बड़े धर्मस्थल स्वर्ण मंदिर में शनिवार को एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। उत्तर प्रदेश के रहने वाले इस युवक ने स्वर्ण मंदिर में गुरु ग्रंथ साहिब का अपमान करने की कोशिश की और वहां रखी तलवार उठा ली थी। इसके बाद लोगों ने उसे पकड़ लिया और पीट-पीटकर मार डाला।
इस घटना के बाद स्वर्ण मंदिर में माहौल गरमा गया है। उग्र भीड़ ने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के कार्यालय के बाहर धरना शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि युवक की बॉडी दिखाई जाए और शव पुलिस को न सौंपा जाए।

स्वर्ण मंदिर में सचखंड साहिब के अंदर शनिवार शाम करीब 6 बजे रहरास (शाम को किया जाने वाला श्री गुरु ग्रंथ साहिब का पाठ) चल रहा था। यहां सुरक्षा के लिए एक जंगला बना हुआ है। जंगले के अंदर सिर्फ पाठ करने वाले रहते हैं। संगत की कतार में शामिल युवक अपनी बारी आने पर सचखंड साहिब के अंदर पहुंचा और अचानक जंगले को पार करते हुए गुरु ग्रंथ साहिब की ओर बढ़ने लगा। सेवादारों ने तुरंत ही युवक को पकड़ लिया।

मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने बताया कि युवक ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब के सामने रखी तलवार उठाने का प्रयास भी किया था। कुछ लोगों का कहना था कि युवक गुरु ग्रंथ साहिब के सामने रखे फूल उठाने की कोशिश कर रहा था। सचखंड में मौजूद सेवादारों ने युवक को पकड़कर गोल्डन टेंपल में तैनात गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की टास्क फोर्स के हवाले कर दिया। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अधिकारियों ने बताया कि मंदिर में मौजूद लोगों ने ही पीट-पीटकर युवक की हत्या कर दी।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के दफ्तर पहुंची उग्र भीड़, गेट तोड़ने की कोशिश

युवक की बॉडी दिखाने और उसका शव पुलिस को न सौंपे जाने की मांग को लेकर उग्र भीड़ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के दफ्तर पहुंची। यहां के कुछ वीडियो भी सामने आए हैं। इनमें साफ दिख रहा है कि गुस्साई भीड़ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी दफ्तर का गेट तोड़ने की कोशिश कर रही है और नारे लगा रही है। भीड़ में हथियार भी नजर आ रहे हैं।

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अध्यक्ष ने घटना को सोची-समझी साजिश बताया

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने कहा कि यह घटना सोची-समझी साजिश के तहत हुई है। इसका मकसद सिखों की भावनाओं को भड़काकर माहौल खराब करना है। सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि बेअदबी का आरोपी अकेला था। उसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। सुबह तक ही सारी जानकारी दी जा सकती है।

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की पूर्व प्रधान बीबी जागीर कौर ने भी कहा कि यह बड़ी साजिश है। पता लगाने की जरूरत है कि इस साजिश के पीछे कौन हैं। दरबार साहिब हर धर्म के लोगों के लिए खुला है।

डिप्टी सीएम बोले- मामले पर पूरी नजर

पंजाब में गृह मंत्रालय देख रहे डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा ने कहा कि अमृतसर के पुलिस कमिश्नर मौके पर पहुंचकर जांच कर रहे हैं। गृह मंत्रालय ने पूरे मामले पर नजर बना रखी है। इसकी गहराई से जांच की जाएगी।

स्वर्ण मंदिर में एक हफ्ते में ऐसी दूसरी घटना
15 दिसंबर को ही गोल्डन टेंपल में ही एक युवक ने गुटका साहिब पवित्र सरोवर में फेंक दिया था। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सेवादारों ने युवक को मौके पर ही पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। युवक ने अपना नाम रणबीर सिंह बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *