अधिकारियों के खराब रवैये के खिलाफ विधानसभा में एकजुट हुए सभी दलों के विधायक

रांची डीसी ने रिवॉल्वर का लाइसेंस देने के लिए तीन लाख रुपये रिश्वत लिए- सीपी सिंह
रांची डीसी ने रिवॉल्वर का लाइसेंस देने के लिए तीन लाख रुपये रिश्वत लिए- सीपी सिंह

रांची। विधानसभा के बजट सत्र के दौरान कुछ दिन पूर्व अधिकारी दीर्घा में मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक की अनुपस्थिति को लेकर सवाल उठाने वाले विधायकों का गुस्सा मंगलवार को एक बार फिर अधिकारियों के प्रति दिखा। इस दौरान रांची से भाजपा के विधायक सीपी सिंह ने आरोप लगाया कि रांची के उपायुक्त ने रिवाल्वर का लाइसेंस लेने के लिए तीन लाख रुपये लिए। उन्होंने पुलिस के एडीजी मुरारीलाल मीणा को घटिया आदमी तक कहा।

कांग्रेस के विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह ने जब सोमवार को राजभवन में रात्रि भोज का जिक्र करते हुए दुखड़ा रोया तो बात काफी आगे बढ़ गई। अनूप सिंह ने आसन को सूचित करते हुए कहा कि राजभवन में विधायकों की घोर बेइज्जती हुई। विधायकों के बैठने की वहां कोई व्यवस्था नहीं थी। कुर्सी तक नहीं दिया गया। उन्होंने सुदेश महतो का जिक्र करते हुए कहा कि उप मुख्यमंत्री समेत कई महत्वपूर्ण पदों पर रहने वाले नेता के साथ ऐसा व्यवहार उन्हें व्यथित कर गया। वे ग्लानि महसूस कर रहे हैं।

उन्होंने कहा – एडीजी मीणा का वे सम्मान करते हैं। उनका पांव छूते हैं, क्योंकि वे उम्र में बड़े हैं, लेकिन प्रोटोकाल के लिहाज से विधायिका सबसे बड़ी है। एडीजी की गाड़ी घुसाने के लिए विधायकों की गाड़ियों को दस मिनट तक के लिए ट्रैफिक इंस्पेक्टर रमेश गिरि रोकता है। विधानसभा में गेट नंबर एक से मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष घुस जाते हैं, लेकिन गेट संख्या तीन से जब विधायक आते हैं तो विधानसभा के कर्मी तो सम्मान देते हैं, लेकिन कोई सरकारी कर्मी खड़ा तक नहीं होता।

इसपर सीपी सिंह ने कहा कि मीणा पैर छुआने के लायक नहीं है। घटिया आदमी है। मैंने एक सिपाही की घरेलू स्थिति को देखते हुए उसे रांची में रखने को कहा तो उसने बुलाकर सिपाही को डांटा और कहा कि पैरवी कराते हो, वर्दी उतार लेंगे। रांची के डीसी ने कोडरमा में डीसी रहते हुए पेड़ कटवाया। मैंने एक व्यक्ति के रिवाल्वर के लाइसेंस के लिए फोन किया तो उससे मुलाकात तक नहीं की। तीन लाख लेकर उसका रिवाल्वर का लाइसेंस बनाया। भाजपा के नीलकंठ सिंह मुंडा ने अधिकारियों के व्यवहार को गलत बताया। कांग्रेस की अंबा प्रसाद ने कहा कि उनके साथ देवघर के एसडीएम ने खराब व्यवहार किया, लेकिन अभी तक एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.