लोहरदगाः पेशरार के बुलबुल जंगलों में भीषण मुठभेड़, आ रही गोलियों और बम धमाके की आवाजें

सीआरपीएफ जवानों ने चार दिनों से जंगल को चारों ओर से घेर रखा है
सीआरपीएफ जवानों ने चार दिनों से जंगल को चारों ओर से घेर रखा है

लोहरदगा । जिले के पेशरार थाना क्षेत्र की बुलबुल के जंगलों के साथ साथ घाघरी गोताक और मराईन के जंगलों में चला पुरजोर तरीके से नक्सलियों के विरुद्ध सर्च अभियान जारी है। 5वें दिन भी पेशरार के बुलबुल जंगल के आस पास पुलिस का सर्च अभियान जारी है । इस बार पुलिस द्वारा नक्सलियों के कई ठिकाने और बंकर को ध्वस्त करने की सूचना सामने आ रही है। जहां जंगलों से बमबाजी की भी आवाज लगातार आ रही है ।

, नक्सलियों के बंकर से पुलिस को भारी मात्रा वस्तुएं बरामद की है, जिनमें नक्सलियों के चावल दाल और खाने की वस्तुएं बंकर से भारी मात्रा में बरामद की गई है। वही सर्च अभियान से अभियान एसपी दीपक पांडे 4 दिनों के बाद वापस लौटकर सर्च अभियान वापस नए सिरे से रणनीति तैयार करने का कार्य कर रहे हैं ।

अभी भी जंगलों में सीआरपीएफ कोबरा बटालियन, झारखंड जगुआर, लोहरदगा पुलिस के साथ साथ गुमला पुलिस और लातेहार पुलिस बुलबुल के साथ आस पास के जंगलों में सर्च अभियान चला रही हैं। वही पुलिस लगातार नक्सलियों पर भारी पड़ती नजर आ रही है जिनमे नक्सलियों को जंगलों में खाने पीने की भी दिक्कत होने की संभावना जताई जा रही है।

यह क्षेत्र में प्रतिबंधित भाकपा माओवादी नक्सली संगठन के कई बड़े और इनामी नक्सलियों की घेराबंदी की गई है जिनमे, रीजनल कमांडर रविंद्र गंझू, जोनल कमांडर छोटू खेरवार, जोनल कमांडर बलराम उरांव और सब जोनल कमांडर रंथु भगत की पुलिस ने चारो ओर से घेराबंदी कर लगातार जंगलों में नक्सलियों के ठिकाने को ध्वस्त कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.