पारसनाथ की पहाड़ियों पर नक्सलियों का जुटान, घात लगाकर पुलिस पर हमला करने की योजना !


उज्ज्वल दुनिया संवाददाता/ अजय निराला

हजारीबाग। झारखंड के गिरिडीह जिला अंतर्गत पारसनाथ की पहाड़ियों पर जुटे नक्सली घात लगाकर पुलिस पर हमला करने की योजना बना रहे हैं। नक्सलियों की गतिविधियों और उनकी योजना की खुफिया विभाग से मिली जानकारी के बाद पुलिस मुख्यालय ने गिरिडीह एसपी और रेंज डीआईजी को अलर्ट किया है। पारसनाथ की पहाड़ियों पर नक्सलियों की गतिविधियां बढ़ने के साथ ही पुलिस बल मानसिक रूप से एनकाउंटर के लिए तैयार रहने का कहा गया है। वहीं पुलिस अफसरों व जवानों को गुमला, गिरिडीह सहित अन्य नक्सल प्रभावित जिलों में कहीं भी अकेले नहीं जाने की हिदायत दी गई है।

दरअसल पिछले दिनों शीर्ष नक्सली प्रशांत बोस व उनकी पत्नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी के विरोध में तीन दिवसीय बंदी का आह्वान किया था। इसी दौरान नक्सलियों के गिरिडीह के पारसनाथ पहाड़ियों पर नक्सलियों के जुटने की खबर मिली थी। खुफिया रिपोर्ट के अनुसार नक्सली रेल, सड़क, सरकारी भवन, पुल, पुलिया व पुलिस पार्टी को नुकसान पहुंचाने की फिराक में हैं। नक्सलियों के बोकारो से गिरिडीह व धनबाद जिला होकर पारसनाथ पहाड़ी की तलहटी में प्रवेश करने की सूचना पर जीटी रोड के नक्सल प्रभावित सभी थानों को अलर्ट मोड पर रखा गया था। नक्सलियों के महिला दस्ते के आने की खबर भी पुलिस हाई अलर्ट पर थी।

इधर पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले कई गांवों के युवा घरों से फरार हो गए हैं। एक ग्रामीण के मुताबिक पिछले दिनों दो लोग पुलिस की ड्रेस में गांव आकर शराब मिलने का पता पूछ रहे थे। युवाओं ने कहा कि जंगल में रहना मुश्किल हो गया है। दिन में सीआरपीएफ और पुलिस नक्सलियों का पता बताने के लिए दबाव डालती है, तो रात में नक्सली पुलिस मुखबिरी के आरोप में प्रताड़ित करते हैं। पुलिस के ड्रेस में शराब मिलने का पता पूछने वालों पर युवाओं को शक होने के बाद कई युवा गांव छोड़ चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *