धंसे चाल से बाहर आए मजदूर, 9 घंटे बाद शुरू हुई बिजली आपूर्ति

धनबाद: जिले के चिरकुंडा थाना और पंचेत ओपी की सीमा पर स्थित डुमरीजोड़ में अचानक ही सड़क धंस गयी थी. इस घटना से अवैध कोयला खनन करने वाली चाल का मुहाना बंद हो गया था जिससे बड़ी संख्या में मजदूर अंदर ही फसे रह गए. हालांकि रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर सभी को सही सलामत बाहर निकाल लिया गया है और साथ ही लगभग 9 घंटे के बाद बिजली की आपूर्ति दोबारा शुरू कर दी गई.

गौरतलब है कि खदान के अंदर फंसे सभी मजदूर पश्चिम बंगाल के रघुनाथपुर और कुल्टी क्षेत्र के बताये जा रहे हैं. बताया जाता है कि 1974-75 से पूर्व यहां पर बंगाल कोल कंपनी कोयला उत्पादन करती थी और उत्पादन करने के बाद कंपनी ने उस क्षेत्र को भरवा दिया था. हालांकि कोयला उद्योग के राष्ट्रीयकरण के बाद भी बीसीसीएल ने इसे नहीं खुलवाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.