केरेडारी में गोलियों का शिकार हुआ केदार का नक्सली और आपराधिक संगठनों से था संबंध


उज्ज्वल दुनिया संवाददाता/ अजय निराला

हजारीबाग। जिले के केरेडारी थाना क्षेत्र में गोलियों का शिकार हुआ युवक केदार ठाकुर का संबंध माओवादियों के अलावा विभिन्न संगठनों से बताया जाता है। गुरुवार की सुबह छठ पूजा कर घर लौटने के दौरान अज्ञात अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियों से छलनी कर उसकी हत्या कर दी थी। जानकार सूत्रों के अनुसार मोटरसाइकिल सवार हथियार बंद अपराधी केदार ठाकुर को गोली मारकर पताल हेंदेगीर की ओर भाग निकले थे। केदार ठाकुर के पिता गुलाब ठाकुर केरेडारी थाना क्षेत्र की पताल पंचायत स्थित कोले गांव का रहने वाले हैं।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि केदार ठाकुर घर में छठ पूजा कर रहा था। पूजा को लेकर आठ नवंबर को हजारीबाग से वह अपने घर कोले गांव परिवार समेत पहुंचा था। दामोदर नदी से 11 नवंबर की सुबह छठ पूजा कर केदार अपने घर पहुंच ही रहा था कि इसी दौरान घात लगाए दो अपराधियों ने केदार पर गोलियां चलाने लगे। अपराधियों ने इस दौरान पांच गोलियां फायरिंग कीं, जिनमें तीन गोलियां केदार के पेट और एक गोली मुंह में जा लगी।
गोली लगने के तुरंत बाद ही केदार की मौत घटना स्थल पर हो गई। उसके बाद ग्रामीणों और परिजनों के सहयोग से मृतक को कोले गांव स्थित उसके घर लाया गया।

सूचना मिलते ही केरेडारी पुलिस दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया। केरेडारी थाना प्रभारी अमित द्विवेदी के मुताबिक केदार ठाकुर अपराधिक प्रवृत्ति का आदमी था। उस पर रंगदारी समेत माओवादी संगठनों के साथ तालमेल रखने का कई मामला दर्ज है। हालांकि केदार ठाकुर की हत्या किन लोगों ने की है इस बात की कोई जानकारी नहीं मिली है।
पुलिस मामले की छानबीन कर रही है और जल्द ही अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।


कुदार ठाकुर अपराध की दुनिया से दूर हटकर पारिवारिक जीवन जी रहा था और पिछले पांच साल से वह हजारीबाग में अपने परिवार के साथ रह रहा था। आठ नवंबर की शाम वह छठ पर्व मनाने के लिए अपने घर पहुंचा था और उसके बाद वह दो दिनों तक पूजा पाठ के लिए खरीदारी कर रहा था। लेकिन छठ पूजा करने के बाद घर लौटने के दौरान अपराधियों ने उसकी गोली मार कर हत्या कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com