पंचायत चुनाव: चौथे चरण के मतदान में सुरक्षा को लेकर सीआईपीएफ और गिरीडीह पुलिस की बैठक

गिरिडीह: जिले मे चौथे और अंतिम चरण का मतदान शुक्रवार को होना है. इसे लेकर प्रशासन पूर्ण रूप से चौकस है. जिन प्रखंडों में चुनाव होना है उनमें पीरटांड, डुमरी और बगोदर शामिल है. हालांकि शुक्रवार को होने वाले मतदान से पहले ही गुरुवार की सुबह सुरक्षा बल को सर्च ऑपरेशन के दौरान माओवादियों के खिलाफ सफलता पाया. पुलिस के अनुसार निमियाघाट थाना क्षेत्र के चेंगराखुर्द के तराई में एक पाईप में पांच किलो का केन बरामद किया है. पुलिस सूत्रों की मानें तो चेंगराखुर्द के तराई के पाईप में मिला केन बम का मकसद सुरक्षा बल को नुकसान पहुंचाने के मकसद से रखा गया था. लेकिन चुनाव को लेकर लगातार चल रहे सर्च ऑपरेशन के दौरान सीआरपीएफ के 154वीं बटालियन ने इसे तराई के पाईप से बरामद किया है. सुरक्षा बलों को पाईप से केन बम सुबह करीब 10 बजे मिला. इसके बाद सुरक्षा बलों ने इसे सुरक्षित निकालते हुए उस डिफ्यूज किया.

जिले मे चौथे चरण मतदान को लेकर पुलिस प्रशासन सतर्क है. इनमें से दो प्रखंडों के कई इलाके नक्सल प्रभावित है. ऐसे अभी तक हुए तीन चरणों में कोई भी अप्रिय घटना नहीं घटी है. शुक्रवार को होने वाले मत लेकर बुधवार को सीआरपीएफ के डीआईजी डीके चौधरी के साथ उत्तरी छोटानागपुर प्रक्षेत्र के डीआईजी नरेन्द्र सिंह ने गिरिडीह पहुंचकर जिला पुलिस के साथ गिरिडीह सीआरपीएफ के अधिकारियों के साथ घंटो बैठक कर शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न करवाने को लेकर रणनीति बनायी गयी. एसपी ने दोनों इलाके के वोटरों का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि माओवादियों द्वारा पोस्टरबाजी कर पंचायत चुनाव के बहिष्कार करने के बाद से भयभीत नहीं होने की अपील की. नक्सलियों के खिलाफ हमारा अभियान जारी है. उन्होंने सभी बूथ पर सुरक्षा को लेकर स्पष्ट किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.