झामुमो विस्थापितों की लड़ाई लड़ती रही है और आगे भी लड़ती रहेगी-मिथिलेश ठाकुर

बोकरो भ्रमण के दौरान मेरे बयान को तोड़-मड़ोड़ कर पेश किया गया
बोकरो भ्रमण के दौरान मेरे बयान को तोड़-मड़ोड़ कर पेश किया गया

रांची। झामुमो हमेशा से विस्थापितों की लड़ाई लड़ती रही है। मैं खुद झामुमो का मजबूत सिपाही हूं और मैंने झामुमो के नेतृत्व में विस्थापितों की लडाई हमेशा लड़ी है। उक्त बातें राज्य के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कही।

मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि बोकारो भ्रमण के दौरान उनके बयान को तोड़-मरोरकर पेश किया जा रहा है जिससे वे आह्त है। उन्होंने कहा कि झामुमो ही राज्य की एकमात्र पार्टी है जो माटी की लड़ाई लडती है। विस्थापितों और वंचितों की लड़ाई लड़ती है और उसे अंजाम तक पहुंचाती है।

उन्होंने कहा कि चाईबासा के ईचाखड़कई डैम के विस्थापितों की लड़ाई मैंने लड़ी है। उनके लिए आंदोलन किया है और उसी आंदोलन का नतीजा है कि मैंने आज यह मुकाम हासिल किया है। मैं खुद उस क्षेत्र से आता हूं (चाईबासा) जहां विस्थापितों के दर्द को मैंने बहुत करीब से देखा है। मैंने उनके पुनर्वास, नियोजन और जमीन का भुगतान आदि के लिए सड़को पर आंदोलन किया है।

उन्होने कहा कि विस्थापितों को गैरकानूनी कहने का सवाल ही नहीं उठता है। आज राज्य में जितने भी लोक उपक्रम, बड़े उद्योग-ध्ंाधे स्थापित हैं, वे सब खतियानी-रैयतों द्वारा दी गई जमीन के बदौलत ही संभव हुआ है। मेरे मन में विस्थापितों के लिए बहुत मान और सम्मान है। पिछले वर्ष भी मैं बोकारो के आजाद नगर गया था और वहां विस्थापितों की समस्याएं सुनी थीं। विस्थापितों का कहना था कि बीएसएल भूमि अधिग्रहण कानून का उल्लंघन कर रहा है और विस्थापित होने के नाते उन्हें जो सुविधाएं कंपनी द्वारा दी जानी चाहिए वे उन्हें नहीं मिल रही है साथ ही पेयजल कर घोर संकट है।

मंत्री ने विस्थापितों को आस्वश्त किया है कि बीएसएल से एनओसी लेकर सभी विस्थापित 19 गांवों में पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही विस्थापित 19 गांव में विकास के वे सभी कार्य किए जाएंगे जिसकी आवश्यकता वहां के लोगों को हैl मंत्री ने कहा कि विस्थापितों को खेमों में बांट कर विपक्ष के लोग उन्हें और उनके आंदोलन को कमजोर करने की साजिश कर रहे हैं, जिसमें वे कभी सफल नहीं हो पाएंगे। झामुमो हमेशा से जल-जंगल-जमीन, विस्थापितों-वंचितों की लड़ाई लड़ती रही है और आगे भी लड़ती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.